अजवाइन क्या है? इसके फायदे,उपयोग और नुकसान | Ajwain in Hindi, Ajwain Khane Ke Fayde

ajwain in hindi

अजवाइन (Ajwain in Hindi) हमेशा घर में मसाले के रूप में किया जाता है। इसमें मौजूद कैल्शियम, पोटेशियम, फास्फोरस, आयोडीन जैसे पोषक तत्व होते है, जौ हमारे हेल्थ के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यदि आप आजवाइन का नियमित रूप से उबालकर सेवन करते है तो यह आप के स्वस्थ को ठीक रखने में मदत करता है। आजवाइन का खट्टा मीठा चूर्ण बनाकर भी खा सकते हो। आज हम आप को इस पोस्ट के माध्यम से आजवाइन के फायदे, लाभ,गुण,उपयोग और नुकसान के बारे में बताएंगे।

अजवाइन के फायदे और उपयोग (Ajwain Benefits and Uses in Hindi)

अजवाइन का सेवन (ajwain khane ke fayde) करने से हम हमारे पेट से सबंधित बीमारियों को सही कर सकते है। इसके अलावा निम्नलिखित बीमारियों में भी अजवाइन से फायदा मिलता है।

दस्त और गैस 

अजवाइन भारतीय रसोई में हर घर में इस्तेमाल होती है। यह आपके पाचन तत्रं के लिए बहुत फायदेमंद रहता है। 100 ग्राम पीसी हुई अजवाइन में 15 ग्राम पिसा हुआ सेंधा नमक मिलाकर चूर्ण बना ले। चूर्ण की आधा -आधा चम्मच दो बार खाने के बाद पानी में मिलाकर पी ले। इससे आपको दस्त, अपच और गैस जैसी तकलीफो में बहुत आराम मिलेगा।

उलटी में राहत 

ज्यादा शराब पीने से अगर किसी व्यक्ति को उलटी हो रही है तो उसे थोड़ी सी अजवाइन खिला दे। इससे आपको आराम मिलेगा और भूख भी टाइम से लगेगी।

 गर्भावस्ता में लाभदायक

अजवाइन के बीज उपचार के लिए बहुत फायदेमंद रहता है। यह विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं को बहुत लाभ प्रदान करता है। गर्भवस्था के समय बहुत सी महिलाओं को कब्ज जैसी तकलीफो का सामना करना पड़ सकता है। इस समस्या में अजवाइन के बीज राहत दिलाने में बहुत मदद करते है।

मर्दाना शक्ति बढ़ाने के लिए

आपको यह जानकार हैरानी तो होगी की अजवाइन से आप की  यौन शक्ति भी बढ़ती है। 200 ग्राम अजवाइन ले और उसको सफ़ेद प्याज के रस में भिगोकर सूखा ले। अब इसमें से 2 चम्मच अजवाइन लेकर इसमें 2 चम्मच देसी घी और 4 चम्मच चीनी मिलाकर रोज सुबह खाए। इसी तरह रोज 21 दिन तक खाएगे तो आपकी मर्दाना शक्ति बढ़ने लगेगी।

मुँह की समस्या के लिए

अजवाइन के बीजो को दांत के दर्द के इलाज के लिए सिद्ध किया गया है। जब भी आपको दांत दर्द, ख़राब गंध और श्रय के उपचार के लिए, अपने मुँह को लोंग तेल, अजवाइन तेल और पानी से रोजाना साफ़ करना चाहिए।

शराब की आदत छुड़ाने के लिए 

जब भी आपका शराब पिने का मन करे, चुटकी भर अजवाइन चबाएं जब तक आपकी शराब पिने की इच्छा ख़त्म नहीं हो। अजवाइन को चूसते रहे, चबाते रहे। कुछ दिन ऐसा करने से आपकी शराब की आदत छूट जाएगी।

सर्दी में नाक बंद होने पर

अजवाइन के अंदर तेल होता है। अजवाइन के तेल के अंदर अंतिमिक्रोब्स तत्व होते है जौ नाक के अंदर जमे हुए बैक्टीरिया को खत्म कर देता है। बैक्टीरिया के खत्म होने हो जाने पर नाक खुल जाती है। कैसे करें उपाए – सबसे पहले एक तपेली में पानी डाले और उसमे 3 चम्मच अजवाइन डालकर उबालें। जब भाप निकलने लगे तो तोलिये से सिर ढ़ककर मुँह को तपेली के पास रखें और जितनी गर्मी सहन हो उतनी दुरी पर रखें। भाप को नाक से खींचे और मुँह खोलकर बाहर निकाले ऐसा करने से आपकी नाक खुल जाएगी। साइनस, सिरदर्द के दर्द में भी बहुत आराम मिलेगा।

पेट दर्द में

चम्मच अजवाइन और स्वाद नुसार नमक, गर्म पानी में मिलाकर पिने से पेट का दर्द बंद हो जाता है। अगर आपको दस्त लग रहे है तो वो भी ठीक हो जाएगें।

खट्टी डकारों के लिए

खट्टी डकारे बंद करने के लिए आप अजवाइन, सेंधा नमक, सूखे आवंले और हींग सबको एक साथ लेकर सबको एक साथ पीसकर चूर्ण बनाले।

पिंपल मुक्त चेहरे के लिए

मुहासों के कारण होने वाले निशान को हटाने के लिए अजवाइन के बीज बहुत उपयोगी रहते है। चेहरे के निशान को हटाने के लिए आप आजवाइन को दही के साथ मिलकर चेहरे पर लगा सकते हो।

अजवाइन के दुष्प्रभाव /नुकसान (Ajwain Side effects in Hindi)

आमतौर पर आजवाइन का सेवन करने हम कई बीमारियों को ठीक करने का काम करते है। लेकिन आप सब जानते है की किसी भी चीज का अधिक मात्रा में सेवन करना हमारे लिए हानिकारक होता है। इसलिए इसका सेवन करने से पहले किसी जानकर व्यक्ति या डॉक्टर से सलाह ले।आजवाइन खाने से होने वाले साइड इफ़ेक्ट निम्नलिखित है।

  • अम्लता
  • मुँह के छाले
  • जलन का एहसास

अगर आप निम्नलिखित स्थितियो में से किसी से पीड़ित है तो आप अजवाइन का सेवन न करे –

इन बीमारियों में आपको बिलकुल भी अजवाइन का सेवन नहीं करना चाहिए। यह आपकी तकलीफों को और बड़ा सकती है।

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*