कमर दर्द क्या है? इसके लक्षण,कारण और इलाज | Back Pain Causes in Hindi

back pain in hindi

कमर में दर्द (back pain in hindi) होना बहुत आम बात होती है, आमतौर पर कमर दर्द कुछ हफ्तों या महीनो में बेहतर हो जाता है। कमर दर्द के (back pain in hindi) कारण पीठ में दर्द और अकड़न महसूस होती है। लेकिन यह दर्द ज्यादा गंभीर नहीं होता है इसे साधारण पेनकिलर दवाइयों से ठीक किया जा सकता है, वैसे तो कमर दर्द के बहुत सारे कारण होते है। जिसमे अचानक होने वाला दर्द गिरने या चोट लगने से होता है। बहुत सारे लोगो को अपने जीवन में कभी न कभी कमर में दर्द का एहसास होता ही है। ज्यादातर लोगो को कमर में दर्द 35 से 55 वर्ष की आयु में होता है।अगर आपकी कमर में ज्यादा दर्द हो रहा है तो आप बिस्तर पर सीधे लेट कर आराम करे। अगर आप काम करेंगे और कमर को हिलाते रहेंगे तो आपकी कमर में दर्द होगा और आपकी कमर अधिक लचीली हो जाएगी।कमर दर्द (kamar ka dard) को रोकने के लिए बहुत सारे उपाए है। अगर आपको रोक थमा से कोई फायदा नहीं होता तो बहुत बार सरल घरेलु उपाए से भी बहुत बार जल्दी आराम मिल जाता है।

कमर दर्द के लक्षण ( Back Pain Symtoms in Hindi)

कमर दर्द (back pain in hindi) के कुछ सामान्य लक्षण होते है। इन लक्षण से आपको डरने की जरुरत नहीं है और इस लक्षण में आप बाद में भी डॉक्टर को दिखा सकते है|

  • पेट में हल्का दर्द होना।
  • सीधे होने में भी तकलीफ होना।
  • कमर में सूजन आना।
  • घुटने के नीचे तक दर्द पहुंचना|
  • पेशाब करने में तकलीफ होना।
  • खेलते समय चोट लगने के बाद पेट दर्द होना। भारी वजन उठाने वाले खेलो में इस प्रकार की तकलीफे होती है।
  • अगर आपको कमर में दर्द लम्बे समय से चल रहा है तो आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे।

कमर में दर्द अनुभव करने वाले लोगो को आपातकाल चिकित्सा की सलाह लेनी चाहिए|

  • एक्सीडेंट के बाद पीठ में दर्द होना और चलने-फिरने में तकलीफ आना।
  • खड़े रहने में परेशानी
  • 20 वर्ष से काम और 55 वर्ष से अधिक आयु वाले लोग।
  • कैंसर से पीड़ित मरीज।
  • जिन रोगियों को कैंसर रह चुका है।

कमर दर्द करने के कारण  (Back Pain Causes in Hindi)

जॉब या काम:-अगर आप ऑफिस में भारी चीज़ों को उठाना या आप कुछ ऐसा काम करते है जिससे आपकी हड्डी पर दवाब मेहसूस होता है इस कारण भी कमर में दर्द होता है। लम्बे समय तक कुर्सी पर बैठे- बैठे भी कमर में दर्द होता है।

शरीर पर आने वाला बोझ:-अगर हम वजनदार सामन उठाते है तो हमारी कमर में दर्द होता है जैसे – अगर हम कुछ काम कर रहे है और एक दम से कोई वजनदार सामन उठाते है तो उसका सीधा वजन हमारी कमर की हड्डी के सीधे निचले हिस्से में पड़ता है। कुछ लोगो को कमर में दर्द खुद का बैग उठाने से होता है। अगर आपके बेग ज्यादा भारी है और देर तक आप बैग को पीछे लटका कर रखते है तो आपकी कमर में दर्द होना पक्का है।

एक्सरसाइज करना:-अगर आप जिम जाते है तो मांसपेशियों पर वजन ज्यादा आने से भी कमर में दर्द होने लगता है। अगर आपके साथ ऐसा कुछ होता है तो आप थोड़े दिन तक आराम करे या कुछ ऐसी एक्सरसाइज करे जिससे आपकी कमर पर वजन न आए|

कमर की हड्डी के डिस्क में चोट लगना:- रीड़ की हड्डी छोटे-छोटे हड्डियों के टुकड़े से जुड़कर बनती है| जिसे हम डिस्क कहते है,और चोट लगने से भी डिस्क पर खतरा बन जाता है।

(और पढ़े:-साइटिका क्या है? इसके कारण और इलाज)

कमर के दर्द की कुछ बड़ी परेशानियां 

बहुत बार कुछ बड़ी तकलीफो के कारण भी कमर में दर्द होता है जैसे की –

  • डिस्क के उभार – टूटी हुई डिस्क भी एक उभरी हुई डिस्क तंत्रिका पर अधिक दवाब डाल सकती है।
  • रीड़ की हड्डी का टेड़ा होना – अगर आपकी रीड़ की हड्डी सामान्य तरीके से टेढ़ी हो जाती है तो आपको कमर दर्द की सम्भावना हो जाती है।

कमर दर्द का इलाज  (Back Pain Treatment in Hindi)

कमर में जब भी दर्द होता है तब आपको न बैठते बनता है और न चलते बनता है। कमर दर्द की वजह से हमारा पूरा शरीर दर्द मेहसूस करता है। ये समस्या आज कल बहुत बड़ गयी है वयस्क, बच्चो, पुरुषो और महिलाओं सभी को यह परेशानी होती है।आजकल के जीवनशैली इतनी बदल गयी है की जीवन का कोई भरोसा नहीं।

कमर दर्द के घरेलु उपाए (Back pain Home Treatment in Hindi)

कमर दर्द (kamar ka dard) को निम्नलिखित घरेलु उपायों का उपयोग करके ठीक किया जा सकता है।

  • गरम पानी से सिकाई करने से भी कमर का दर्द दूर हो जाता है।
  • कमर दर्द हो तो नारियल या सरसों के तेल से घर पर ही मालिश कर ले। इससे भी आपका दर्द दूर हो जाएगा।
  • अजवाइन को हल्का सेक कर ले और मुँह में डाल कर धीरे धीरे चबाएं। कमर का दर्द (kamar ka dard) बहुत जल्द कम होगा।
  • नमक से भी कमर का दर्द दूर होता है। 2 तरीके से नमक से कमर का दर्द दूर करने का रीका।
  • 2-3 चम्मच डिगले वाले नमक को ले और इसे तवे पर गर्म करे। अब इसे एक मोटे से कपडे में बांध ले। अब उसे धीरे धीरे कमर पर रख के सिकाई करे।
  • आधी बाल्टी पानी में 2-3 चम्मच नमक डाले, फिर इसमें मोती टॉवल डाल कर निचोड़ ले। फिर कमर पर धीरे धीरे सिकाई करे।
Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*