ब्रेन ट्यूमर के लक्षण, कारण और इलाज | Brain Tumor Symptoms, Causes Treatment in Hindi

brain tumor in hindi

ब्रेन ट्यूमर (Brain Tumor in Hindi) मनुष्य के मस्तिष्क में होने वाली असामान्य कोशिकाओं का संग्रह होता है। यह मस्तिष्क में होने वाले बहुत ही घातक बीमारी होती है। इस बीमारी वाले मरीज बहुत कम ही जिंदगी जीते है। इनको ठीक होने में बहुत लम्बा समय लगता है। परन्तु बदलती तकनीक और विशेषज्ञ के द्वारा नई-नई दवाइयों का अविष्कार किया गया है, जो इन मरीजों के इलाज के लिए उपयोग में लिया जाता है।

ब्रेन ट्यूमर क्या है? (Brain Tumor in Hindi)

ब्रेन ट्यूमर (brain tumor in hindi) मनुष्य की कोशिकाओं का एक संग्रह होता है। जिसे साधारण भाषा में खोपड़ी भी कहा जाता है। यह आपके मस्तिष्क के आवरण में रखने वाली खोपड़ी का बहुत ही कठोर भाग होता है। यह खोपड़ी के अंदर असामान्य कोशिकाओं की वृद्धि में समस्या पैदा करती है। ब्रेन ट्यूमर मेलिग्रेंट या कैंसर रहित भी हो सकते है। जब मेलिग्रेंट ट्यूमर बढ़ते है, तो वह आप के खोपड़ी में दबाव बढ़ाने का काम करते है। यह मस्तिष्क में खतरा पैदा करता है जिससे जीवन खतरे में आ सकता है। ब्रेन ट्यूमर की समस्या बच्चो के साथ-साथ बड़े और बूढ़े व्यक्तियों को भी हो सकती है।

ब्रेन ट्यूमर बहुत ही खतरनाक बीमारी होती है। जिसे दो श्रेणी में विभाजित किया गया है प्राथमिक और माध्यमिक। प्राथमिक ब्रेन ट्यूमर मस्तिष्क में उत्पन्न होता है। बहुत से प्राथमिक ट्यूमर सामान्य होते है। दूसरा माध्यमिक ब्रेन ट्यूमर होता है जिसे मेटास्टैटिक ब्रेन ट्यूमर (metastatic brain tumor) के नाम से भी जाना जाता है। यह तब होता है जब कैंसर की कोशिकाए आप के मस्तिष्क से फेफड़ो या स्तन जैसी अंगो में फैल जाती है

ब्रेन ट्यूमर के प्रकार (Types of Brain Tumor in Hindi)

सामान्यतः ब्रेन ट्यूमर दो प्रकार के होते है।

  • कैंसर युक्त ब्रेन ट्यूमर:– कैंसरयुक्त ब्रेन ट्यूमर मस्तिष्क में प्राथमिक ट्यूमर की तरह शुरू होता है, और बाद में धीरे -धीरे मस्तिष्क के अन्य भागो में फैलता जाता है। इसका एक बार इलाज करवाने के बाद दुबारा होने के संभावना होती है।
  • बिना कैंसरयुक्त ब्रेन ट्यूमर:- यह ब्रेन ट्यूमर धीरे- धीरे बढ़ता है,और इसका एक बार इलाज करवाने के बाद दुबारा होने की संभावना कम होती है।

 ब्रेन ट्यूमर के लक्षण (Brain Tumor Symptoms in Hindi)

ब्रेन ट्यूमर के लक्षणों (brain tumor symptoms in hindi)और संकेतो में भिन्नता होती है। यह ब्रेन ट्यूमर के आकार और उसके दर्द पर निर्भर करता है। कभी-कभी तो बिना लक्षण (brain tumor symptoms in hindi) के भी ब्रेन ट्यूमर की समस्या होती है। ब्रेन ट्यूमर के लक्षण (brain tumor ke lakshan) सामान्य के साथ -साथ खतरनाक भी हो सकते है। ब्रेन ट्यूमर का सामान्य लक्षण (brain tumor ke lakshan) रीढ़ की हड्डी और मस्तिष्क में होने वाले दबाव के कारण उत्पन्न होता है, और विशिष्ट लक्षण वह होते है जो मनुष्य के मस्तिष्क का कोई भाग ट्यूमर की वजह से काम करना बंद कर देता है। यदि आप को मस्तिष्क से लेकर कोई भी समस्या हो तो पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य ले और परिक्षण के बाद ही दवाइयों का सेवन करे।

ब्रेन ट्यूमर लक्षण (brain tumor ke lakshan) निम्नलिखित होते है।

  • ब्रेन ट्यूमर का सबसे आम लक्षण सिर दर्द होना होता है।   (अधिक जानकारी:- कैंसर कैसे होता है? इसके कारण और उपचार )
  • उलटी या मचलन की समस्या।
  • शरीर में थकान महसूस करना।
  • हाथ- पैर और जोड़ो में दर्द।
  • नींद न आना।
  • भूक न लगना।
  • सिर दर्द का दर्द धीरे-धीरे बढ़ना।
  • शरीर के संतुलन में कठनाई आना।
  • बोलने या सुनने में कठनाई उत्पन्न होना।
  • आखो में धुंधला पन दिखाई देना।
  • याद्दाश कम होना।
  • शरीर में दुबला पन।
  • चलने में कठनाई।

इसके अलावा ब्रेन ट्यूमर के कुछ विशिष्ट लक्षण (brain tumor ke lakshan) निम्नलिखित है।

  • जिस जगह ट्यूमर हुआ है वहा पर दबाव और सिर दर्द महसूस करना।
  • दैनिक गतिविधिया करने में कठनाई पैदा होना।
  • स्तनपान करवाने में परेशानी होना।
  • महिलाओं के मासिक धर्म में बदलाव होना।
  • मस्तिष्क सुन्न हो जाना जिसके कारण कोई चीज याद रखने में परेशानी होना।
  • खाना-खाने में या निगलने में परेशानी होना।
  • आखो के सामने अँधेरा छा जाना।

ब्रेन ट्यूमर का उपचार/ इलाज (Brain Tumor Treatment in Hindi)

ब्रेन ट्यूमर का उपचार (brain tumor ka ilaj) उसकी स्थिति, कारक और उसके लक्षणों पर निर्भर करती है।

  • ब्रेन ट्यूमर का प्रकार
  • ट्यूमर कितने स्थान में फैला हुआ है और उसका आकार क्या है।
  • आयु और सिमा वर्ग|
  • मस्तिष्क में ट्यूमर की स्थिति क्या है।
  • आप की सेहत और फिटनेस कैसी है।
  • स्वास्थ और चिकित्सक का पुराना इतिहास।

कीमोथेरेपी (Chemotherapy)

ब्रेन ट्यूमर की कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए कीमोथेरिपी का उपयोग किया जाता है। कीमोथेरेपी की दवाइयों को गोलियों या रक्त कोशिकाओं के माध्यम से इंजेक्शन के द्वारा भी लिया जाता है।

कीमोथेरेपी के दवाइयों के प्रभाव के कारण उलटी या बालो के झड़ने का कारण भी होता है।

सर्जरी (Surgery)

  • ब्रेन ट्यूमर को सर्जरी करके डॉक्टर द्वारा हटाने का काम किया जाता है।
  • ब्रेन ट्यूमर के हिस्से को हटाने से इनके लक्षण और दर्द को कम किया जा सकता है।
  • यदि आप ब्रेन ट्यूमर को सर्जरी से हटाने की कोशिश करते हो तो इससे रक्तस्त्राव होने का डर होता है। और इसके अलावा अन्य जगह पर भी घाव होने की संभावना भी होती है।

विकिरिण उपचार (Radiation Therapy)

विकिरिण उपचार के लिए ऊर्जा (energy) की आवश्यकता होती है। ब्रेन ट्यूमर की कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए एक्स -रे (Ex-Ray) का उपयोग किया जाता है। विकिरिण चिकित्सा शरीर के बाहरी हिस्से के भागो को मशीनी से टेस्ट किया जाता है।

बाहरी बीम विकिरण (External Beam Radiation)

बाहरी बीम विकिरण उपचार से मस्तिष्क के उस भाग का उपचार किया जाता है जहा पर ब्रेन ट्यूमर स्थित हो। इसके अलावा इसका उपयोग आप के पुरे मस्तिष्क के हिस्से को भी चेक किया जाता है।

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*