कैंसर कैसे होता है? कैंसर के कारण, लक्षण और बचाव के उपाय | Cancer Symptoms, Treatment in hindi

cancer in hindi

कैंसर (cancer in hindi) अपने आप में एक बहुत बड़ी बीमारी है, लोगों का तो यहां तक कहना है की कैंसर (cancer in hindi) मतलब मौत, लेकिन सच तो यह है की अगर कैंसर का पता पहले स्टेज में चल जाए तो बचाव किया जा सकता है| लेकिन अगर तीसरे या चौथे स्टेज में कैंसर का पता चलता है तो फिर इससे बचाव मुश्किल है और कई दफा तो मौत ही बचाव है|

शरीर में अनावश्यक कोशिकाओं की वृद्धि से कैंसर होता है. जब यह अनावश्यक कोशिकाएं तेजी से बढती जाती है तो शरीर के अन्य अंगों पर आक्रमण करती है, और इस तरह कैंसर शरीर में फैलता जाता है| आईये जानते है कैंसर कैसे फैलता है, इसके लक्षण (cancer symptoms in hindi) और कारण क्या है तथा इससे कैसे बचा जा सकता है.

कैंसर शरीर में कैसे होता है?  

कैंसर रक्त प्रवाह या लसीका प्रणाली के द्वारा पुरे शरीर में फ़ैल सकता है| एक स्थान से होते हुए धीरे-धीरे यह पुरे शरीर पर कब्जा कर लेता है. अगर पहले स्टेज पर कैंसर को पहचान लिया तो इसका बचाव किया जा सकता है| अन्यथा जब एक बार कैंसर पुरे शरीर में फ़ैल गया तो फिर इससे बचना मुश्किल है|

कैंसर के प्रकार ( Types Of Cancer in Hindi)

यूँ तो 100 से ज्यादा तरह के कैंसर होते है लेकिन आज हम आपको कुछ प्रमुख कैंसर के बारे में बताएँगे|

स्तन कैंसर

एक शोध के अनुसार हर 22 में से एक महिला को उसके जीवनकाल में स्तन कैंसर हो सकता है. 40 वर्ष के बाद वाली महिलाएं इसका शिकार ज्यादा होती है| लेकिन कई बार 20 से 30 वर्ष की महिलाओं में भी इसके प्रभाव को देखा गया है, स्तन में गाँठ, दर्द, तरल पदार्थ निकलना आदि भी ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण (cancer symptoms in hindi) हो सकते है| ब्रेस्ट का आकार बढ़ना, सुजन, निप्पल का लाल पड़ना आदि भी ब्रेस्ट कैंसर की वजह हो सकते है|

गर्भाशय का कैंसर

छोटी उम्र में शादी, अधिक प्रसव, प्रसव के दौरान गर्भाशय में घाव होना, शारीरिक संबध के दौरान रोग होना आदि गर्भाशय के कैंसर को बढाते है| 40 की उम्र के बाद गर्भाशय के कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है|

गले का कैंसर

तम्बाकू के अधिक मात्रा में सेवन से गले का कैंसर होता है| मुहं में सफ़ेद दाग, गाँठ, लार टपकना, बदबू आना, मुहं खोलने और बोलने में दिक्कत होना आदि गले के कंस की वजह हो सकते है|

ब्रेन कैंसर

दिमाग में किसी तरह की गाँठ होने से ब्रेन का कैंसर हो सकता है, चक्कर आना, उल्टी होना, बार-बार भूल जाना, सांस लेने में दिक्कत होना आदि इसके प्रमुख लक्षण (cancer symptoms in hindi) है|

ब्लड कैंसर

ब्लड कैंसर में शरीर की रक्त कोशिकाओं में अनियंत्रित वृद्धि होने लगती है| जिससे मुहं से खून आना, जोड़ो और हड्डियों में दर्द, लगातार कई दिनों तक बुखार आना, डायरिया आदि ब्लड कैंसर के लक्षण है.

इसके अलावा भी कई तरह के कैंसर होते है निचे देख सकते है:

  • वृषण कैंसर
  • लंग कैंसर
  • लीवर कैंसर
  • पेट का कैंसर
  • योनी का कैंसर
  • अमाशय का कैंसर
  • गुर्दे का कैंसर
  • प्रोस्टेट कैंसर
  • स्किन कैंसर आदि.

कैंसर के कारण (Cancer Causes in Hindi)

  • वजन बढना या मोटापा|
  • शराब के सेवन से|
  • तम्बाकू के सेवन से|
  • खराब खान-पान से|
  • वातावरण से|
  • खराब दिनचर्या से|
  • प्रदूषण से|
  • संक्रमण से|
  • विकिरण से|

कैंसर के लक्षण (Cancer Symptoms in Hindi, Cancer ke lakshan)

  • शरीर में गाँठ या ट्यूमर का बनना|
  • अधिक मात्रा में खांसी फेफड़े के कैंसर की वजह हो सकता है|
  • पेशाब करते समय खून आना|
  • स्तन पर गांठे होना, तरल पदार्थ निकलना, निप्पल का लाल होना आदि स्तन कैंसर के लक्षण (Cancer ke lakshan) है|
  • अचानक से वजन बढ़ जाना|
  • अधिक मात्रा में थकान होना|
  • गुर्दे संबधी रोगों का होना|
  • सर दर्द, गर्दन में दर्द, खाना निगलते समय दर्द होना आदि दर्द भी कैंसर के लक्षण (cancer ke lakshan) हो सकते है|
  • ब्लीडिंग होना|
  • खून की कमी होना|
  • सांस लेने में दिक्कत होना आदि|

कैंसर की जाँच (Cancer Test)

शरीर की जांच

डॉक्टर आपके शरीर की जांच करता है, की कहीं आपके शरीर पर कसी तरह की गाँठ तो नहीं है. शरीर के परिक्षण के दौरान डॉक्टर त्वचा का रंग, असहज महसूस होना, शरीर में असमानताएं, किसी अंग का बध्गा आदि को देखता है|

लैब में जांच

शरीर की जांच के बाद डॉक्टर रोगी का मूत्र और खून की जांच को देखता है, जरूरत पड़ने पर सिटी स्कैन, सोनोग्राफी, एक्सरे, PET जांच आदि की जांचे करवाता है|

बायोप्सी जांच

इस जांच में शरीर की कोशिकाओं की जांच की जाती है. जिसमे डॉक्टर कोशिकाओं का एक नमूना एकत्र करते है और उसकी जांच करते है.

सब जांच के बाद डॉक्टर आपके कैंसर का चरण और सीमायें देखेंगे और उसके अनुसार इलाज शुरू करेंगे, अगर शुरूआती चरण में कैंसर का इलाज हो जाए तो सही रहता है अन्यथा बात बिगड़ सकती है|

कैंसर का इलाज  (Cancer Treatment in Hindi)

  • सर्जरी
  • कीमोथैरेपी
  • रेडिएशन थैरेपी
  • इम्यूनोथैरेपी
  • हार्मोन थैरेपी
  • टारगेटेद थैरेपी
  • स्टेम कोशिका प्रत्यारोपण
  • प्रेसिजन मेडिसिन

इस तरह डॉक्टर कैंसर का इलाज करते है. अब यह निर्भर करता है की कैंसर कौन से स्टेज पर है|

कैंसर से कैसे बचें

  • रोजाना व्यायाम और योग करें|
  • जंक फ़ूड के सेवन से बचें|
  • शराब और तम्बाकू का सेवन ना करें|
  • वसायुक्त भोजन जैसे मख्हन, देरी उत्पाद कम मात्रा में ले|
  • स्तन परिक्षण करें जैसे कोई गाँठ या दर्द हो तो स्त्री रोग विशेषज्ञ को बताएं|
  • समय-समय पर डॉक्टर से शरीर की जांच करवाते रहे|
  • अधिक मात्रा में पानी पीयें|
  • मोटापे को ना बढ़ने दे. दिनचर्या में व्यायाम को शामिल करें|
  • सेलफोन का हद से ज्यादा इस्तेमाल ना करें क्योंकि यह ब्रेन कैंसर की वजह बन सकता है|
  • स्वस्थ भोजन करें. भोजन में पोषक तत्वों और हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें|

 

 

Please follow and like us:
0

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*