सिट्रलका सिरप का उपयोग और फायदे | Benefits and Uses of Citralka Syrup in Hindi

citralka syrup in hindi

सिट्रलका सिरप (citralka syrup in hindi) का उपयोग मूत्र प्रणाली के संक्रमण का उपचार करने के लिए किया जाता है। पेशाब का बार बार आना, पेशाब करते समय जलन होना, गुर्दे के पथरी के इलाज, मूत्र पथ संक्रमण, यूरिक एसिड की पथरी आदि बीमारियों के इलाज में उपयोग किया जाता है। सिट्रलका (citralka) दवाई में कुछ मुख्य घटक होते है,जो मूत्र और रक्त की प्रणाली में एकत्रित होने वाले एसिड को तटस्थ करने का काम करती है। इसका यूज़ सिरप के रूप में भी किया जाता है। इसका निर्माण Pharmacia India द्वारा किया जाता है। आइए हम आप को बताते है, की सिट्रलका सिरप (citralka syrup) का उपयोग करने से क्या-क्या फायदे होते है, और इसे कैसे यूज़ किया जाता है।

सिट्रलका सिरप का उपयोग और फायदे (Citralka Syrup Benefits and Uses in Hindi)

सिट्रलका सिरप का उपयोग (citralka syrup uses in hindi) निम्नलिखित बीमारियों, स्थितियों के लक्षण,  रोकथाम एवं उनके उपचार को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है।

  • मूत्र का बार-बार आना।
  • मूत्र प्रणाली के संक्रमण का उपचार करने के लिए।
  • मूत्र प्रणाली में जलन होना।
  • यूरिक एसिड की पथरी में।
  • गाउट
  • युरियन इन्फेक्शन का इलाज
  • पथरी के इलाज
  • सल्फोनामाइड उपचार के लिए
  • गुर्दा संबधी नलीदार अम्लरक्तता का उपचार
  • गुर्दे के पथरी का इलाज
  • मूत्र क्षारीकरण
  • दस्त के बाद अम्लरक्तता के उपचार में।

सिट्रलका सिरप में उपयोग होने वाली सामग्री (Ingredients Citralka Syrup in Hindi)

सिट्रलका का उपयोग सिरप के रूप में किया जाता है। इसका निर्माण निम्लिखित सामग्री के मिश्रण से बनाया जाता है।

  • डाइसोसोडियम हाइड्रोजन सिट्रेट – 53 GM

सिट्रलका सिरप के दुष्प्रभाव और नुकसान (Citralka Syrup Side Effect in Hindi)

सिट्रलका सिरप (citralka syrup side effect in hindi) का उपयोग करने से आप को इसके साइड इफ़ेक्ट हो सकते है। परन्तु इसके लक्षण आप को महसूस नहीं होंगे। इस दवाई का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।यदि आप बिना किसी की सलाह से इसका सेवन करते है तो यह आप के लिए नुकसान दायक हो सकती है। सिट्रलका सिरप से होने वाले नुकसान निम्नलिखित है।

  • सिरदर्द करना
  • पेट दर्द करना।
  • पेट में ऐंठन।
  • चिंता
  • दस्त
  • थकान
  • दुर्बलता
  • मिजाज
  • रक्त में पोटेशियम मात्रा की कमी
  • पेट में गैस बनना
  • मूत्रधिक्या
  • मनोदशा में परिवर्तन

सिट्रलका सिरप की सावधानियाँ (Citralka Syrup Precaution in Hindi)

इस दवाई (citralka liquid) का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले और दवाई पर दिए गए निर्देशों को अवश्य पढ़े। यदि आप पहले से किसी विटामिन या अन्य दवाई का सेवन कर रहे हो तो इस दवाई को लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले। और भी कुछ ऐसी सावधानियाँ होती है जो निम्लिखित है।

  • इस दवाई का अधिक मात्रा में सेवन करने से बचे। यदि आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते है, तो यह आप के लिए नुकसान दायक हो सकती है।
  • गुर्दे के रोग से ग्रसित रोगियों में।
  • रक्त में उच्च पोटेशियम से ग्रसित रोगियों में।
  • इस दवाई को खाली पेट लेने से बचे।
  • निर्जलित रोगियों
  • इस दवाई को लेते समय अधिक मात्रा में पानी का सेवन करे।
  • गंभीर जीवाणु से ग्रसित रोगियों में।
  • यदि आप शराब का सेवन करते है तो इसका सेवन नहीं करे तो अच्छा है।
  • गर्भवती के दौरान महिलाओं को इस दवाई का सेवन करने से बचे। यदि लेने की आवश्यकता हो तो पहले डॉक्टर की सलाह ले।
  • स्तनपान करवाते समय इस दवाई का सेवन नहीं करवाना चाहिए। यदि आप करते है तो इसका असर आप के बच्चो पर हो सकता है।
  • यदि आप किसी विटामिन या अन्य सप्लीमेंट का उपयोग कर रहे हो तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

 

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*