दालचीनी क्या है, दालचीनी के फायदे और नुकसान | Dalchini (Cinnamon) in Hindi, Dalchini ke Fayde

dalchini ke fayde in hindi

दालचीनी या cinnamon (cinnamon in hindi)  हमारी रसोई में पाया जाने वाला सर्वश्रेष्ठ मसाले में से एक है। जिसका उपयोग हम खाने में स्वाद के लिए मिलाते है। यह खाने में टेस्ट और सुगंध बढ़ाने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग हम गरम मसाले के रूप में भी करते है। यह बात भी सच है की दालचीनी सिर्फ रसोई तक सिमित नहीं है। दालचीनी का उपयोग बहुत सी बीमारियों को ठीक करने के लिए भी किया जाता है। जैसे की कमर दर्द, पेट दर्द, मानसिक क्षमता बढ़ाना, पाचन तंत्र से सबंधित, वजन बढ़ना, और मधुमेह से सबंधित बीमारियों को भी ठीक करने में भी सहायक होती है। दालचीनी सबसे ज्यादा भारत और श्रीलंका में पाई जाती है। यह एक cinnamon  स्टिक होती है। इसका उपयोग चाय या कॉफी के साथ भी किया जाता है। दालचीनी का यूज़ आयुर्वेदिक औषधि के रूप में भी किया जाता है। दालचीनी पहले बहुत महँगी मिलती थी, और इसे आसानी से प्राप्त नहीं कर सकते। परन्तु आज के समय में यह मार्किट में आसानी से मिल जाती है, और सस्ती भी है। दालचीनी एक प्रकार की छाल होती है। जिसका यूज़ आयुर्वेदिक तौर पर भी करते है। दालचीनी में शक्तिशाली एंटी – इंफ्लेमेंटरी, और संक्रामक विरोधी गुण होते है। दालचीनी एंटी-ऑक्सीडेंट,पॉलीफिनॉल, आयरन और फाइबर जैसे खनिज पदार्थो का बहुत ही अच्छा स्त्रोत है। यह शरीर को स्वस्थ रखने का काम भी करती है।

दालचीनी के फायदे (Benefits of Cinnamon in Hindi, Dalchini ke Fayde )

दालचीनी का उपयोग (benefits of cinnamon in hindi) मसाले के रूप में खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता। इसके अलावा दालचीनी का यूज़ आयुर्वेदिक औषधि के रूप में कई बीमारियों को ठीक करने में इस्तेमाल किया जाता है। दालचीनी से और कुछ फायदे होते है जो निम्नलिखित है।

त्वचा को खूबसूरत बनाने के लिए दालचीनी का प्रयोग (Tvacha ke liye dalchini ka upyog in Hindi)

दालचीनी के पावडर को शहद के साथ मिलाकर उसके पेस्ट को चहरे पर लगाने से चेहरे पर होने वाली खुजली को कम किया जा सकता है। और इसके साथ निम्बू मिलाकर चहरे पर लगाने से मुहासे और काले धब्बे को भी दूर करता है। और जैसे -जैसे उम्र बढ़ती जाती है। वैसे -वैसे चेहरे पर झुर्रिया और बुढ़ापा दिखने लगता है। यदि आप दालचीनी का उपयोग लौंग के साथ करते हो तो यह त्वचा से सबंधित रोगो को दूर करती है। और त्वचा को सुन्दर और नौजवा बना देती है। इसीकारण दालचीनी हमारे त्वचा के लिए बहुत उपयोगी है।

तेज दिमाग और मानसिक तनाव काम करने में दालचीनी के फायदे (Tej Dimag ke liye dalchine ke fayde in Hindi)

यदि कोई मनुष्य दालचीनी का नियमित सेवन करता है, तो उसमे मानसिक तनाव की समस्या बहुत कम होती है। क्योकि इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। जो हमारे मस्तिष्क के लिए फायदेमंद है। इसे सूंघने से भी हमारी स्मरण शक्ति को बढ़ाया जा सकता है। एक परीक्षण के द्वारा पता चला है की जिस व्यक्ति को अल्जामर की समस्या है| यदि वह दालचीनी के ज्यूस को निरंतर पिता है, तो उसकी इस समस्या को भी ठीक किया जा सकता है। इसके सेवन करने से मस्तिष्क तक सन्देश पहुंचाने वाले सिस्टम सही तरीके से काम करते है। यह बच्चो के लिए भी फायदेमंद होती है। यदि बच्चा इसका सेवन करता है तो यह उसकी याद्दाश शक्ति को बढ़ाने में सहायता करता है।

मधुमेह के इलाज में दालचीनी का प्रयोग (Madhumeh ke ilaj me dalchini ka upyog in Hindi)

दालचीनी (cinnamon in hindi) का उपयोग मधुमेह बीमारी को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। आमतौर पर यह दो प्रकार के मधुमेह को ठीक करने के  लिए किया जाता है। एक शोध में पता चला है की दालचीनी का उपयोग करने से शर्करा की मात्रा बढ़ती है और ग्लूकोज का लेवल कम होता जाता है। इसलिए हम इसका उपयोग खाने के साथ करते है ताकि मधुमेह के मरीजों को आराम मिल सके| यह पाचन क्रिया को भी सही करने में मदत करता है।  जिसके कारन हाइपोथैलमस हार्मोन को ठीक किया जा सकता है।

रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में दालचीनी के फायदे (Rog Pratirodhak Kshamta Badhane Mein Dalchini ke fayde in Hindi)

दालचीनी (cinnamon in hindi) के सेवन करने से रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। जिससे किसी भी प्रकार की कमजोरी नहीं आती है। जिससे शरीर हमेशा चुस्त तंदुरस्त रहता है। क्योकि आज कल खान पान इतना बदल गया है की जिसको खाने से थकान और सुस्ती आती है। यदि आप रोज दालचीनी की पावडर को शहद के साथ मिलाकर पीते हो तो यह आप के शरीर में शक्ति प्रदान करता है, और ऊर्जा का संचार करता है। जिससे शारीरिक काम करने की क्षमता बढ़ती है।

वजन कम करने में दालचीनी के फायदे (Vajan kam karne Me Dalchini ke Fayde)

यदि आप आप के बढ़ते हुए वजन के कारन परेशान है, तो आज हम को बताते है की वजन को कैसे कम किया जाये।दालचीनी के पावडर या उसके स्टिक को गरम पानी में उबालकर उसमे शहद और निम्बू मिलाकर इसको पिने से वजन को कम किया जा सकता है। बस इस बात का ध्यान रखना है की इसके साथ आप को नियमित रूप से व्यायाम भी करना पड़ेगा और इसका सेवन नियमित रूप से करना पड़ेगा।

कैंसर के इलाज में दालचीनी के फायदे (Cancer me Dalchini ke Fayde in Hindi)

ऑस्ट्रेलिया और जापान के विशेषज्ञों द्वारा एक शोध में सामने आया है की दालचीनी का सेवन शहद के साथ करने से बॉन कैंसर जैसी बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। यह शरीर के कोशिकाओं के वृद्धि को कम करने का काम करती है। दालचीनी का रोज सेवन करने से कैंसर को कम किया जा सकता है। दालचीनी लयकेमिया और लिफॉम्पा कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि दर को कम करने का काम करती है।

मासिक धर्म नहीं आने पर दालचीनी के फायदे (Masik Dharm me Dalchini ke fayde in Hindi)

दालचीनी का सेवन करने से मासिक धर्म को ठीक से आने में भी सहायता मिलती है। दालचीनी के पीसी हुई  पावडर का रोज एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर खाने से मासिक धर्म आने में भी फायदा मिलता है।  इसका ज्यादा मात्रा में सेवन करने से पेट में दर्द होने की समस्या होती है| ऐसे में मुंग दाल की बराबर के दाने का हींग का टुकड़ा खाने से इस दर्द को कम किया जा सकता है। इस बात का ध्यान रहे की गर्भवती महिलाए इसका सेवन करने से बचे।

गठिया के दर्द में दालचीनी के फायदे ( gathiya ke ilaj me Dalchini ke Fayde in Hindi)

यदि आप को गठिया से सबंधित कोई बीमारी है, तो उसमे दालचीनी का सेवन करना बहुत ही महत्वपूर्ण है।आधा चम्मच दालचीनी के पावडर में एक चम्मच शहद मिलाने से यदि आप इसका सेवन रोज करते हो तो आठ दिन के अंदर यह आप के गठिया के दर्द को कम कर देता है। क्योकि दालचीनी में गठिया दर्द से जुड़े साइटोकिन्स को कम करने का काम करता है। इसका नियमित सेवन करने से आप एक महीने में चलने लगोगे।

पाचन क्रिया को ठीक करने में दालचीनी के उपयोग (Pachan kriya ko thik karne me Dalchini ke Fayde)

दालचीनी में उपस्थित एंटी इंफ्लेमेंटरी गुण होने के कारन यह पाचन क्रिया को ठीक करने का काम करता है। दालचीनी में भरपूर मात्रा में कैल्शियम,फाइबर,और मेग्नेशियम होते है। दालचीनी को बाइल सॉल्ट एवं गैस्टिक ज्यूस के साथ मिलाकर पाचन क्रिया को मजबूत करने में सहायता करती है। यदि आप दालचीनी को पुदीने के पत्ते के साथ खाते है, तो यह आप के पाचन क्रिया को ठीक करता है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करने में दालचीनी के फायदे (Cholesterol kam karne Me Dalchini ke Fayde in Hindi)

दालचीनी के उपयोग से आप के कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है। यह आप के ब्लड से ख़राब कोलेस्ट्रॉल को कम करने का काम करता है। इसमें मौजूत सक्रीय घटक कोशिकाओं की चीनी चयपाचय क्रिया को कम करता है।

दालचीनी के मुख्य प्रकार (Types Of Dalchini in Hindi)

दालचीनी मुख्यतः दो प्रकार की होती है। जो निम्न लिखित है।

सिलोन दालचीनी:- सिलोन दालचीनी को शुद्ध दालचीनी के नाम से भी जाना जाता है।

केसिया दालचीनी :- केसिया दालचीनी ज्यादातर यूज़ में आती है और यह आसानी से कहि पर भी उपलब्ध हो जाती है।

दालचीनी के साइड इफ़ेक्ट/ नुकसान (Dalchini Side Effect in Hindi)

यदि आप दालचीनी का सेवन अधिक मात्रा में करते हो तो यह आप के लिए हानिकारक भी हो सकता है। इसका यूज़ करने से पहले की जानकर व्यक्ति से सलाह अवश्य ले| यदि कोई गर्भवती महिलाए या जो स्तनपान करवा रही है| तो उन महिलाओं को इनका सेवन करने से बचाना चाहिए। गर्भवती महिलाए गर्भ के दौरान दालचीनी का अधिक मात्रा में सेवन करती है, तो उनका पेट टाइम से पहले दर्द होने लगता है, या गर्भ को छोटा कर देता है। इसको ज्यादा मात्रा में सेवन करने से यह जहर में चेंज हो जाता है। इसलिए इसके सेवन करने से पहले इसके निर्देश और डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

 

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*