इकोस्प्रिन कैप्सूल | Ecosprin Capsule in Hindi

ecosprin capsule in hindi

इकोस्प्रिन कैप्सूल (ecosprin capsule in Hindi) का निर्माण USV कंपनी के द्वारा किया जाता है। यह नॉन स्टेरोडाइल दवाई है| जो हृदय से संबधित सभी बीमारियों को ठीक करने के लिए उपयोग में लाई जाती है। इकोस्प्रिन का उपयोग अन्य बीमारिया जैसे:- बुखार, मासपेशियो में दर्द, गठिया, दांत दर्द, सिर दर्द,  पेट दर्द,दिल का दौरा,स्ट्रोक के खतरे, आदि के इलाज में उपयोग की जाती है। इसमें एस्पिरिन के कुछ घटक उपस्थित होते है। इसके एक स्ट्रिप में 14  गोलिया आती है। आइए इस दवाई के बारे में हम आप को विस्तार से बताते है।

इकोस्प्रिन के फायदे और उपयोग करने के तरीके (Ecosprin Tablet Uses and Benefits in Hindi)

इकोस्प्रिन टेबलेट का उपयोग (ecosprin tablet uses in hindi) हार्ट से सबंधित बीमारियों के लिए किया जाता है। इसका यूज़ दर्द निवारक टेबलेट के रूप में भी किया जाता है। निम्नलिखित कुछ ऐसी बीमारिया है जिनके इलाज के लिए इकोस्प्रिन टेबलेट (ecosprin tablet) का यूज़ किया जाता है।

  • दिल के दौरे में।
  • मासपेशियो के दर्द में।
  • सिर दर्द में।
  • हार्ट अटैक में।
  • कार्डियक स्ट्रोक में।
  • जोड़ो के दर्द में।
  • माइग्रेन में।
  • ऑस्टियोआर्थराइट्स
  • शरीर में खून का थक्का जमने पर।
  • एनजाइना
  • हार्ट फेल होना।
  • कमर दर्द।
  • गठिया
  • कावासाकी रोग में।

इकोस्प्रिन टेबलेट के दुष्प्रभाव/ नुकसान (Ecosprin Tablet Side Effect in Hindi)

इकोस्प्रिन टेबलेट (ecosprin tablet side effect in hindi) का अधिक मात्रा में सेवन करने से इसके आप के शरीर पर साइड इफ़ेक्ट भी होते है। परन्तु यह साइड इफ़ेक्ट आप को महसूस नहीं होंगे। इसलिए इस टेबलेट का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले। बिना डॉक्टर की सलाह से इस गोली का सेवन करने से यह आप के लिए हानिकारक हो सकती है। आज हम आप को इससे होने साइड इफ़ेक्ट के बारे में बताते है।

  • गेस्ट्रिक अल्सर
  • अपचन की समस्या।
  • मचलाहट होना।
  • उलटी होना।
  • चक्कर आना।
  • पेट में सूजन
  • रक्त के प्लेटलेट में कमी।
  • पेट में दर्द (और पढ़े :- पेरासिटामोल टेबलेट के बारे में)
  • चहरे का लाल पीला होना।
  • सीने में जलन
  • शरीर पर लाल चकते पड़ना।
  • दिल की धड़कन तेज होना।
  • सास फूलना
  • दमा

इकोस्प्रिन टेबलेट की सामग्री (Ingredients of Ecosprin Tablet in Hindi)

इकोस्प्रिन टेबलेट में एस्प्रिन नामक पदार्थ उपस्थित रहता है।

  • एस्प्रिन (Asprin)

इकोस्प्रिन टेबलेट के प्रकार (Types of Ecosprin Tablet in Hindi)

निचे कुछ दवाइयों की सूचि दी गई है जो इकोस्प्रिन की विकल्प के रूप में उपयोग किया जाता है।

  • Aspa 75MG
  • Asprin 75MG
  • Sprin 75MG
  • Sprintas 75MG
  • Loprin 75MG

इकोस्प्रिन टेबलेट लेने में सावधानियाँ (Ecosprin Tablet Precaution in Hindi)

इकोस्प्रिन टेबलेट का उपयोग करने से पहले उसके सावधानी के बारे में अवश्य जान ले। इसका उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले। इसके स्ट्रिप के ऊपर कुछ निर्देश लिखे हुए रहते है उन्हें अवश्य पढ़े और भी निम्नलिखित कुछ ऐसी सावधानियाँ है जो इस टेबलेट का सेवन करते समय उपयोग में लाना चाहिए।

  • यदि आप इस टेबलेट का अधिक मात्रा में सेवन करते है तो इसका आप के शरीर के ऊपर दुष्प्रभाव पड़ सकता है। यदि आप को इससे सबंधित कोई परेशानी हो रही हो टीो तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर से इलाज करवा ले।
  • यदि आप पहलेसे ही किसी विटामिन या अन्य सप्लीमेंट का यूज़ कर रहे हो तो इस टेबलेट को लेने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य ले।
  • शराब के साथ इसका सेवन करने से यह आप के लिए हानिकारक हो सकता है।
  • यदि आप दवाई की खुराग लेना भूल गए हो तो जितनी जल्दी हो सके ले लो यदि दूसरी खुराग करीब हो तो पहली वाली खुराग को छोड़कर दूसरी खुराग को नियमित कर लो ।
  • आमतौर पर तो गर्भ के दौरान महिलाओं को इकोस्प्रिन टेबलेट की सलाह नहीं देते है। यदि संभव हो तो ही इसका यूज़ कर सकते है वो भी डॉक्टर की सलाह के अनुसार। इसका सेवन करने से भ्रूण पर कोई असर नहीं होता है। परन्तु इसका उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य ले।
  • स्तनपान के दौरान इसका सेवन किया जा सकता है। इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य ले।
Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*