लहसुन क्या है (Garlic in Hindi), लहसुन के फायदे (Garlic Benefits in Hindi)

benefits of garlic in hindi

लहसुन (garlic in hindi) एक आयुर्वेदिक खाद्य पदार्थ है। जिसका उपयोग हर किसी के घर में खाद्य पदार्थ के रूप में भोजन का स्वाद बढ़ने के लिए किया जाता है। लहसुन का उपयोग आयुर्वेदिक औषधि के रूप में भी किया जाता है। लहसुन की खेती हजारो वर्ष पहले से की जा रही है। लहसुन की खेती सबसे पहले मध्य एशिया में की गई थी। लहसुन (garlic in hindi) में औषिधीय गुण और आयुर्वेदिक औषधि के गुण  होने के कारन इसे अलग ही पहचान मिली है। खासतौर पर लहसुन का उपयोग (garlic uses in hindi) खाने को स्वादिष्ट बनाने के लिए यूज़ किया जाता है। लेकिन इसमें कुछ औषधि यौगिक गुण जैसे एल्कीन, एंटीवाइरल, एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट नामक तत्व होते है। जो हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ही लाभदायक होते है। लहसुन खाने से  हमारी पाचन क्रिया सुधार होता है, और साथ ही साथ कई सारी बीमारियों को भी नष्ट करने का काम करता है। यदि आप रोजाना लहसुन को थोड़ी मात्रा में खाते है, तो यह आप के स्वास्थ के लिए फायदेमंद होता है| और आप को तंदुरस्त रखने में मदत करता है। कच्चा लहसुन खाना अधिक अच्छा होता है, पके हुए लहसुन से, क्योकि पकाए हुए लहसुन से सारे औषधीय  गुण नष्ट हो जाते है।  इसके अतिरिक्त लहसुन का उपयोग (lahsun khane ke fayde) एंटीबायोटिक औषधि के रूप में किया जाता है। लहसुन खाने से हमारे शरीर में कार्य करने की क्षमता बढ़ती है। लहसुन को खली पेट खाने से बहुत अधिक फायदे होते है।

लहसुन के फायदे और उपयोग (Garlic Benefits and Uses in Hindi)

वैसे तो लहसुन का उपयोग (lahsun khane ke fayde) एंटीबायोटिक औषधि के रूप में किया जाता है। परन्तु निम्नलिखित कुछ ऐसी बीमारिया है, जिनके इलाज के लिए लहसुन बहुत ही फायदेमंद होता है।

वजन कम करने में लहसुन का उपयोग (Garlic Use for Weight Loss)

यदि आप लहसुन का रोजाना खाली पेट सेवन करते है तो आप का वजन बहुत कम समय में कम होने लगेगा और चयपाचय क्रिया में भी सुधार होगा।

प्रतिरक्षा प्रणाली और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में लहसुन का उपयोग (Garlic beneficial in enhancing immune system)

लहसुन में उपस्थित विटामिन c, विटामिन B, कैल्शियम. कॉपर, फाइबर,और आइरन की मात्रा होने के कारन यह हमारे शरीर में प्रतिरोधक क्षमता और इम्युनि सिस्टम को सुधारने का काम भी करता है। इसमें विभिन्न प्रकार के खनिज पदार्थ उपस्थित होते है।यह अन्य बीमारिया जैसे: सर्दी,जुखाम के इन्फेक्शन को ख़त्म करने का काम करता है। विशेषज्ञों द्वारा यह कहा गया है यदि आप लहसुन का रोजाना १-२ कली का सेवन करते है तो यह आप की ६०% इन्फेक्शन बीमारियों को ख़त्म कर सकता है।

पाचन शक्ति को ठीक करने में लहसुन का उपयोग (Garlic helps to improve digestive power)

लहसुन का उपयोग करने से पेट से सबंधित सभी परेशानियों को दूर करता है। यह हमारी पाचन क्रिया को भी सुधारता है। इसके सेवन से गैस की समस्या का भी निदान होता है। परन्तु इस बात का ध्यान रहे की लहसुन का अधिक मात्रा में सेवन करने से भी नुकसान होता है।

हृदय को मजबूत बनाने में लहसुन के फायदे (Benefits of Garlic in making the heart Healthy)

लहसुन हृदय से सबंधित सभी बीमारियों को ठीक करने में मदत करता है। क्योकि इसको खाने से शरीर में रक्त परिसंचरण और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मदत करता है। जिन लोगो को दिल का दौरा या स्ट्रोक की बीमारी है उनको इसका सेवन करना चाहिए।

एलर्जी में लहसुन के फायदे (Garlic benefits of reducing allergies)

लहसुन में उपस्थित एंटीवाइरल और एंटीफ्लेमेन्ट्री के गुण होने के कारन हमारे शरीर में होने वाली एलर्जी से लड़ने में मदत करता है। यह सभी प्रकार की एलर्जी और सूजन को कम करने का काम करता है।

कैंसर को रोकने के लिए लहसुन के उपयोग (Garlic use to prevent cancer)

यह बात सुनाने में या पढ़ने में अजीब लगेगी की लहसुन का उपयोग करने से कैंसर को ठीक किया जा सकता है। लेकिन यब बात बिलकुल सही है। क्योकि लहसुन में एलिसिन सल्फर यौगिकों के उपस्थिति के कारन यह कैंसर की कोशिकाओं को ख़त्म करता है। लहसुन का सेवन करने से पाचन क्रिया और फेफड़ो की क्रिया को ठीक करता है। यह ट्यूमर के आकर को भी बढ़ाने से रोकता है।

सर्दी जुकाम को ठीक करने के लिए लहसुन के फायदे (Garlic for cough and cold in hindi)

लहसुन में उपस्थित एंटीवाइरल और एंटीऑक्सीडेंट के गुण होने के कारन यह सर्दी और खासी जैसी बीमारियों को ठीक करता है। यह अस्थमा को ठीक करने में भी सहायक है।

सेक्स हार्मोन के स्टार को ठीक करने में लहसुन के फायदे (Garlic regulates harmones)

लहसुन में एलिसिन नामक पदार्थ होने के कारन यह पुरुषो के सेक्स स्तर को सुधारता है। और इसमें भारी मात्रा में सेलेनियम होने के कारन यह वीर्य में बढ़ोतरी और उसके क्वालिटी को सुधारता है।

बालो को मजबूत बनाने के लिए लहसुन के फायदे (Garlic properties in strengthening hair)

यदि आप बालो के झड़ने से परेशान है| तो लहसुन का सेवन करे क्योकि इसमें एलिसिन सल्फर होता है जो बालो को झड़ने से बचाता है। यदि आप जो भी तेल का यूज़ करते हो उसमे लहसुन को उबालकर ठंडा होने के बाद बालो की मालिश करने से यह बालो को झड़ने से रोकता है,और काले भी करता है।

दांत के राहत के लिए लहसुन के फायदे (Relief in toothache with the use of garlic)

दातो के दर्द के लिए लहसुन बहुत लाभदायक है। क्योकि इसमें एंटीबैक्टेरियल गुण होते है। इसमें सिर्फ लहसुन को पीसकर उसके पेस्ट को मसूड़े पर लगाने से भी ठीक हो जाता है। या इसको तेन में गरम करके भी लगा सकते हो।

पेट में होने वाले दर्द को कम करने के लिए लहसुन के फायदे (Garlic removes stomach problems)

यदि आप को पेट से सबंधित कोई इन्फेक्शन है या पेट ख़राब हो रहा है तो आप लहसुन को भूनकर यूज़ खा सकते है। जिससे पेट दर्द, जलन,उलटी आदि समस्याओं में समाधानी मिलती है।

लहसुन के साइड इफ़ेक्ट / नुकसान (Garlic Side Effect in Hindi)

आमतौर पर तो लहसुन के कोई ज्यादा साइड इफ़ेक्ट नहीं होते है। परन्तु यदि आप लहसुन का सेवन अधिक मात्रा में करते है| तो इसके कुछ साइड इफ़ेक्ट होते है। लहसुन का सेवन करने से पहले किसी जानकर व्यक्ति से पूरी जानकारी ले उसके बाद ही इसका सेवन करे। क्योकि आप भी जानते ही हो की किसी भी चीज का अधिक मात्रा में सेवन करने से नुकसान होते है। लहसुन से होने वाले नुकसान निम्नलिखित है।

  • जिन लोगो का ब्लड प्रेशर कम रहता है, या जिनको ब्लड प्रेशर की समस्या है। उन लोगो को कच्चे लहसुन का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योकि लहसुन का सेवन करने से यह ब्लड के संचार को कम करता है। इसलिए इन मरीजों को उपयोग न हो तो इसका सेवन नहीं करना चाहिए। यदि तुम्हे कुछ ऐसा लगे तो डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  • लहसुन खाने से मुँह से बदबू आती है।
  • गर्भवती महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान लहसुन खाने से बचना चाहिए। क्योकि यदि आप गर्भवती के समय कच्चा लहसुन कहते है तो इसके आप के भ्रूण के ऊपर इफ़ेक्ट होता है क्यों की लहसुन बहुत ही गरम होता है जिसके कारन प्रीमेच्योर बेबी होने का डर रहता है। यह अधिक गर्म होता है। इसलिए गर्भवती महिला को पपीता खाने से भी मना किया जाता है। क्योकि यह भी बहुत गर्म होता है।
  • जिन लोगो में खून की कमी होती है उन लोगो को कच्चे लहसुन खाने से बचना चाहिए। क्योकि लहसुन शरीर के अंदर जाकर फेट को बर्न और खून को पतला करने का काम करता है। इसलिए जिन में खून की कमी है उनको इनका सेवन नहीं करना चाहिए। यह उनके लिए जानलेवा हो सकता है।और हो सके तो पके हुए लहसुन का सेवन भी कम ही करे।
  • जिन लोगो को एसिडिटी,पेट का अल्सर, डायरिया आदि बीमारिया है उनको लहसुन का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। क्योकि लहसुन का सेवन करने से एसिडिटी बढ़ती है।
  • यदि आप का ऑपरेशन या सर्जरी हो गई है या होने वाली है। उस समय के दौरान लहसुन का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योकि लहसुन कहने से यह शरीर में खून को पतला करने का और उसकी गति को बढ़ाने का काम करता है। ऐसे में यदि आप लहसुन कहते हो तो डॉक्टर के द्वारा ऑपरेशन करना संभव नहीं है। क्योकि ब्लड को रोक पाना संभव नहीं है। इसलिए ऑपरेशन के १५ दिन पहले और बाद में लहसुन का उपयोग न ही करे तो अच्छा है।

उपरोक्त दी गई जानकारी विशेषज्ञों के सलाह के आधार पर दी गई है। यदि आप की सी भी प्रकार की परेशानी होती है तो आप सबसे पहले आप के नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करे और उनसे जानकारी प्राप्त करे।

 

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*