सिरदर्द क्यों होता है? इसके कारण, लक्षण और उपचार | Headache Causes,Symptoms and Treatment in Hindi

headache in hindi

सिर में दर्द (headache in hindi) होना एक बहुत ही आम समस्या है, बदलती जीवनशैली और गलत खान पान के कारण सिर में दर्द होना एक आम समस्या बन गई है। वैसे सिर में दर्द कोई गंभीर बीमारी नहीं होती है। सिरदर्द कभी -कभी होता है, और दवा लेने से जल्दी आराम भी मिल जाता है। ज्यादातर सिरदर्द की तकलीफ उनको होती है, जिनकी नींद पूरी न होना, थकान, दांतो में दर्द, मानसिक परिश्रम, गलत दवाई, चश्मे का नंबर बढ़ने के कारण और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का ज्यादा प्रयोग करने के कारण हो सकता है। सिरदर्द का एक कारण नहीं होता इसके अनेक कारण होते है। हम आप को इस पोस्ट के माध्यम से बताएंगे की सिर दर्द क्या होता है। इसके कारण और उपचार कैसे करते है।

सिरदर्द के कारण (Headache Causes in Hindi)

नीचे दिए गए कारणों से माध्यमिक सिरदर्द होता है

  • शराब पीने से होने वाला हैंगओवर
  • भूख लगना
  • घबराहट
  • थकावट
  • तनाव
  • दौरे आना
  • गर्दन और पीठ की मांसपेशियों में तनाव
  • कैफीन और शुगर की मात्रा शरीर में बढ़ना
  • दर्द की दवा का ज्यादा सेवन करना
  • खून के थक्के
  • निर्जलीकरण
  • रात में सोते समय दांत पीसना

तनाव से सिरदर्द होना

तनाव से सिरदर्द होना सामान्य सिर दर्द है। यह सिर दर्द मांसपेशियों में सिकुड़ने से होता है। तनाव के कारण यह सिरदर्द लम्बे समय तक होता है। तनाव से होने वाला सिरदर्द ज्यादातर धीरे-धीरे खत्म होता है। आमतौर पर होने वाला सिरदर्द अपने आप ही ठीक हो जाता है। रोज होने वाला सिरदर्द थकान, भावनात्मक तनाव, शोर से होता है।

माइग्रेन से सिरदर्द

माइग्रेन ऐसा सिरदर्द है जो सिर के अलग अलग हिस्से और बहुत तेज होने वाला दर्द होता है। माइग्रेन के सिरदर्द में कई बार जी मिचलाना, उलटी होना, बुखार, सुस्ती और ठण्ड भी लगती है। ये एलर्जी के कारण भी हो सकती है।

साइनस सिरदर्द

साइनस सिरदर्द तब होता है जब साइनस में संक्रमण और जलन होने लगती है। साइनस में सिर दर्द लगातार तेज दर्द करता है। साइनस के कारण आँखों में, गले में और दांतो में दर्द होता है, कभी कभी यह दर्द इतना बढ़ जाता है की इसमें बुखार और अन्य प्रकार समस्याए होती है। इसमें निचे झुकने पर दर्द बहुत तेज होने लगता है। साइनस के दर्द में बुखार, ठंड लगना,चेहरे पर सूजन आदि की समस्या होती है।

नींद पूरी न होने से सिरदर्द

ज्यादा काम करना, लम्बे समय तक काम करना या रात को लेट तक टीवी देखना और मोबाइल चलाने के कारण है आप रात को लेट सोते है इस कारण भी आपकी नींद पूरी नहीं हो पाती है। इस कारण आपको सिर में दर्द होता है और थकान भी महसूस होती है।

सिर दर्द की सावधानियाँ (Headache  Precaution in Hindi)

अगर आप चाहते है, की आपको सिरदर्द से निजात मिले तो आप सबसे पहले अपने दिमाग से तनाव कम करें, नींद पूरी करें, अगर इसके बाद भी लगातार आपको सिरदर्द की समस्या है, तो आप डॉक्टर के पास जाने में बिलकुल भी देर न करें क्योकि आपकी थोड़ी सी लापरवाही से समस्या बढ़ सकती है। 50% लोग ऐसे होते है, जो डॉक्टर के पास जाने की बजाए खुद अपना इलाज करते है। खुद अपना इलाज करना सही नहीं है।

सिरदर्द का इलाज  (Headache Treatment in Hindi)

सिरदर्द के उपचार के लिए दवाई बहुत ही सामान्य तरीके से मिल जाती है। दर्द में आराम दिलाने वाली सामान्य दवाई हमेशा आपको हर मेडिकल स्टोर पर आसानी से मिल जाती है।

सिरदर्द के लिए दवाई (Medicine for Headache in Hindi)

नीचे दी गयी दवाई से बार बार होने वाले सिरदर्द में आपको बहुत आराम मिलता है –

  1. एन्टीडिप्रेसन्ट :- ये दवाई आपको रोज होने वाले गंभीर सिरदर्द की समस्याओं से आराम दिलाती है जैसे- चिंता, अनियमित नींद का इलाज के लिए मदद करती है।
  2. बीटा अवरोधक :- वैसे तो ये दवाई हाई ब्लड प्रेशर के इलाज में भी काम आती है, और ये माइग्रेन में भी बहुत आराम दिलाती है।
  3. एंटी सीज्यूर: – ये दवाई आपको माइग्रेन में तो आराम देती ही है साथ साथ रोज होने वाले सिर दर्द में भी आपको बहुत आराम मिलता है।
Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*