हिमालया गोक्षुरा के लाभ और उपयोग | Himaliya Gokshura Benefits and Uses in Hindi

Himaliya Gokshura Benefits and Uses in Hindi

हिमालया गोक्षुरा (Himalaya gokshura in hindi) एक वनस्पतिक औषधि है। यह जमींन  पर फैली हुई रहती है।  यह अधिकतर हरियाणा और राजस्थान के जंगलो में पाई जाती है । यह पौधे बड़े और छोटे दोनों तरह के होते है और दोनों में समानता के गुण पाए जाते है। इन पेड़ो को अलग से लगाने की कोई जरुरत नहीं होती है। बारिश  की शुरुआत होते ही ये अपने आप खेत में और आस -पास के जंगलो में उगने लगते है। यह पेड़ सर्दियों के मौसम में आते है। इन पेड़ो पर पिले फूल उगते है, और इसकी पत्तिया चने के पेड़ की पत्तियों के जैसे होती है| इसके टहनियों पर रुई और काटे लगे हुए होते है। काटे लगे हुए होने के कारन यह गाय के पेरो में फस जाते है। इसलिए इसको  गोक्षुरा कहा जाता है।

यह बहुत ही मुलायम रसेदार हलके भूरे रंग की जड़ होती है। जिसमे फल लगे होते है, इस फल में ६ काटे लगे हुए होते है। गोक्षुरा का मुख्यतौर पर पुरुषो में यौन से सबंधित कमजोरी को दूर करने के लिए किया जाता है। जिससे यौन शक्ति बढ़ती है। इसका सेवन करने से मासपेशिया बढ़ती है और टेस्टोरेन का स्तर भी बढ़ता है। जिससे सेक्स करने की क्षमता बढ़ती है। वीर्य के विकार दूर होता है। यह पथरी, हृदय से सबंधित बीमारिया और प्रजनन से सबंधित सभी बीमारियों के लिए बहुत ही उत्तम दवाई है।

हिमालया गोक्षुरा के लाभ और उपयोग (Himaliya Gokshura Benefits and Uses in Hindi)

हिमालया गोक्षुरा औषधि का उपयोग आमतौर पर पुरुषो में यौन कामेच्छा को बढ़ाने के लिए किया जाता है। यह डिस्युरिया को ठीक करता है। और भी कुछ निचे ऐसी बीमारिया है जिनके इलाज के लिए गोक्षुरा हिमालया का उपयोग किया जाता है।

  • यह यौन इच्छा को उत्तेजित करने का काम करता है।
  • यह मूत्र प्रणाली से सबंधित बीमारियों को ठीक करता है।
  • पथरी से सबंधित बीमारियों में।
  • हृदय से सबंधित रोगो में।
  • शरीर पर होने वाले सूजन को कम करने के लिए।
  • मूत्र के प्रवाह को बढाता है।
  • शरीर में शक्ति और ऊर्जा को बढ़ाने का काम करता है।
  • गोक्षुर खाने से बॉडी को ताकद मिलती है।
  • गोक्षुर खाने से स्टेमिना बढ़ता है और हड्डिया मजबूत होती है।
  • यह शाकाहारी जड़ीबूटी होती है।

हिमालया गोक्षुरा साइड इफ़ेक्ट/नुकसान (Himaliya Gokshura Side Effect in Hindi)

गोक्षुरा के आमतौर पर कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता है। यदि आप इसको सही मात्रा में या डॉक्टर की सलाह से लेते है, तो इसका आप के शरीर पर कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता है। क्योकि गोक्षुर हिमालय यह एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है। फिर भी कुछ कारन इनके कुछ साइड इफ़ेक्ट भी होता है। परन्तु  यह इफ़ेक्ट आप को महसूस नहीं होंगे हमने आप के लिए कुछ लक्षण सूचीगत किये गए है।

  • पेट फूलना।
  • भूख कम लगना।
  • हृदय से संबधित बीमारी में।
  • मधुमेह से संबधित  कोई मरीज हो तो डॉक्टर से सलाह ले।
  • इस दवाई को बच्चो से दूर रखे।
  • अधिक मात्रा में सेवन न करे।
  • यदि कोई महिला गर्भवती है तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  • शराब के साथ इसको नहीं लिया जा सकता है।
  • उच्चरक्तचाप हो तो लेने से पहले डॉक्टर से सलाह ले।
  • स्तनपान वाली महिलाओं को लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  • इस दवाई का असर कुछ दिनों के बाद दिखाई देंगे।
  • यदि आप को इस दवाई लेने के बाद कोई साइड इफ़ेक्ट हो रहे हो तो इसे लेना तुरंत बंद कर दो और किसी नजदीकी डॉटर से संपर्क करे।

गोक्षुरा हिमालया की सामग्री (Ingredients of Himalaya Gokshura in Hindi)

गोक्षुरा हिमालया को बहुत से नाम से जाना जाता है। सबसे पहले इसकी शुरवात यूरोप में की गई। इसको यूरोप में  सपोर्टिव किडनी मैडियन था। यह मूत्र विसर्जन के दौरान होने वाले कष्ट को कम करने के लिए किया जाता है। गोक्षुर बहुत ही मधुर औषधि है| मुख में रखने से ही प्रस्सनता आती है।  यह खासतौर पर पुरुषो के यौन शक्ति को बढाता है, तथा पेशाब से सबंधित सभी बीमारियों को ठीक करने का काम करता है। कमजोर महिला और पुरुषो के लिए यह टॉनिक का काम करता है। यह भूख बढ़ाने में भी सहायता प्रदान करता है।

गोक्षुरा कर्म / एक्शन

  • वृष्य द्रव जो बलकारक, वीर्य वर्धक हो।
  • बाजीकरण द्रव जो रति शक्ति को बढाता है।
  • मूत्रल द्रव जो मूत्र ज्यादा लता है।
  • शीतल द्रव जो ठंडा, सुख परैड पसीने को दूर करता है।
  • वतार और शुक्रकर द्रव जो शुक्र के विषाणु को बढाता है।

Himalaya Gokshura Bodybuilding

आमतौर पर कहा जाता है की यदि आप किसी भी जड़ीबूटी का उपयोग करते है, तो यह आप की शारीरिक शक्ति को बढ़ाने का काम करती है। परन्तु अकेली  वनस्पति कुछ नई कर सकती। बॉडी बनाने के लिए हमें बहुत ज्यादा वनस्पति की आवश्यकता होती है। गोक्षुर हमारे शरीर में शक्ति और ऊर्जा को बढाता है| जिसके कारन हमारी मासपेशिया मजबूत होती है| और यह हमें फिट रखने भी मदत करता है। हम अश्वगंध का उपयोग भी शक्ति बढ़ाने के लिए करते है। गोक्षुर हिमालिया हमारी सेक्स पॉवर बढ़ाने के साथ- साथ हमारी मासपेशियो को भी मजबूत करता है। यह हड्डियों को भी मजबूत करते है। गोक्षुर हिमालया हमारे वीर्य विकार को भी बढाता है।

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*