कायम चूर्ण क्या है? फायदे और सावधानियां | Benefits and Precaution of Kayam Churna in Hindi

Kayam churna in Hindi

कायम चूर्ण (Kayam Churna in Hindi) एक  आयुर्वेदिक औषधि होती है। जो पावडर के रूप में होती है। कायम चूर्ण का उपयोग कब्ज या पेट में होने वाली गैस की समस्या को दूर करने क लिए किया जाता है। भारत में इसका उपयोग बहुत अधिक मात्रा में किया जाता है। कायम चूर्ण का कभी -कभार उपयोग करने से कब्ज की बीमारी को ठीक किया जा सकता है। परन्तु इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से यह आप की  आंतो को नुकसान पहुँचता है। कायम चूर्ण आयुर्वेदिक औषधियों का मिश्रण होता है। कही लोगो को इसके रोज खाने की आदत हो जाती है। वैसे तो इसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता है। परन्तु यदि आप इसका नियमित सेवन करते है, तो यह आप की नसों को पिघला देता है।

कायम चूर्ण एक बहुप्रचलित आयुर्वेदिक औषधि है। इसका सबसे ज्यादा उपयोग भारत में किया जाता है। सेठ ब्रदर्स नामक कंपनी द्वारा इसका निर्माण किया जाता है। इसको बहुत सी जड़ी-बूटियों के मिश्रण से बनाया जाता है।

कायम चूर्ण के फायदे / उपयोग (Benefits of Kayam Churna in Hindi)

कायम चूर्ण का उपयोग (kayam churna uses in hindi) आमतौर पर तो कब्ज की समस्याए दूर करने के लिए किया जाता है। परन्तु और भी कुछ ऐसी समस्याए है जिनके इलाज के लिए कायम चूर्ण औषधि का सेवन करते है।

  • कब्ज के इलाज में।
  • पेट में जलन होने पर
  • पेट में गैस के कारन मुँह में होने वाले चले के इलाज के लिए।
  • गैस के कारन होने वाले सिरदर्द के इलाज में।
  • एसिडिटी की समस्याए में।

कायम चूर्ण के साइड इफ़ेक्ट / नुकसान (Kayam Churna Side Effect in Hindi)

कायम चूर्ण का लगातार यूज़ करने से हमारे शरीर को इसकी आदत हो जाती है। यदि हम इसे लेना छोड़ दे तो पेट में कब्ज और गैस की समस्या और ज्यादा बढ़ने लगती है। जिसके कारन हमें कुछ साइड इफ़ेक्ट होते है। कायम चूर्ण का उपयोग एक समय अंतराल में किया जाना चाहिए। इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से कुछ साइड इफ़ेक्ट भी होते है जो निम्नलिखित है।

  • कायम चूर्ण का अधिक मात्रा में सेवन करने से शरीर में खुजली, उलटी, दस्त आदि परेशानिया होती है।
  • कायम चूर्ण का लम्बे समय से उपयोग करने पर यह पुरुषो के स्पर्म और गुणवत्ता को कम करता है।
  • इसका अधिक सेवन करने से पेटदर्द की समस्या होती है।
  • शरीर में पानी की कमी होना।
  • भूख कम लगना।
  • जिन लोगो को हाई ब्लडप्रेशर, शुगर की बीमारी, हाई पित्ताशय आदि बीमारिया होती है। उन लोगो को इसका सेवन करने से बचना चाहिए।
  • गर्भवस्था के दौरान महिलाओं को कायम चूर्ण का उपयोग नहीं करना चाहिए। जब तक डॉक्टर न कहे।
  • इस कायम चूर्ण को १० साल के निचे वाले बच्चो से दूर रखना चाहिए। क्योकि यह बच्चो के लिए नुकसान दायक रहता है।

कायम चूर्ण को बनाने में प्रयोग की जाने वाली सामग्री

वैसे तो हम सब जानते ही है की कायम चूर्ण एक आयुर्वेदिक औषधि होती है। जिसका निर्माण करने के लिए विभिन्न प्रकार की जड़ी बूटियों का यूज़ किया जाता है।

  • सोनामुखी की पत्तिया – ५०%
  • आजवाइन – १२%
  • काला नमक -१८%
  • हरीतकी -८%
  • स्वाजिसकरा ५%
  • मुलेठी ४%
  • निशोथ ३%

कायम चूर्ण के इस्तेमाल में सावधानियां (Kayam Churna precaution in Hindi)

कायम चूर्ण को इस्तेमाल करने के लिए कुछ सावधानियां होती है जो निम्न लिखित है।

  • इस कायम चूर्ण को अधिक समय तक लेने से इसकी आदत बन जाती है। जो हमारे लिए खतरनाक साबित होती है।
  • यदि आप को इस कायम चूर्ण से एलर्जी है तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  • प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसा कुछ करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  • स्तनपान के समय इस चूर्ण का उपयोग नहीं करना चाहिए। उपयोग में लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  • शराब के साथ इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • १० वर्षो के कम आयु वर्ग वाले बच्चो को इस चूर्ण का सेवन नहीं करवाना चाहिए।
  • यदि पहले से ही आप किसी विटामिन या कोई अन्य दवाई का सेवन करते हो तो इसका यूज़ करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*