खुबानी के फायदे और नुकसान | Apricot (Khubani) in Hindi

khubani in hindi

खुबानी (Apricot in hindi) या एप्रीकॉट एक बीज युक्त फल होता है। खुबानी फल खाने से हमें बहुत सारे फायदे होते है।  इस छोटे से दिखने वाले फल में भरपूर मात्रा में विटामिन और आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते है। खुबानी का वैज्ञानिक नाम प्रूनस आर्मेनियाका (Prunas Armeniaca) जो आर्मेनिया से लिया गया है। वैज्ञानिको का मानना है, की यह सबसे पहले आर्मेनिया में पाया गया था। खुबानी या एप्रीकॉट फल (Apricot Fruit) में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है| जो हमारी त्वचा, आँख और हृदय को स्वस्थ रखने का काम करता है। इस फल को खाने से डाइबिटीज और कैंसर जैसी बीमारियों को भी ठीक करने का काम किया जाता है। खुबानी फल की खेती लगभग ३००० सालो से की जा रही है। यह अधिकतर पहाड़ी इलाको जैसे जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश आदि क्षेत्रो में पाया जाता है। खुबानी फल को सिर्फ  खाने के लिए ही नहीं बल्कि इनके बीजो का यूज़ इम्युनि सिस्टम को बढ़ने के लिए किया जाता है। इसमें विभिन्न प्रकार के विटामिन जैसे विटामिन ए (Vitamin A), विटामिन बी (Vitamin B), विटामिन सी (Vitamin C), और विटामिन इ (Vitamin E) पाए जाते है। विटामिन के साथ -साथ इनमे आवश्यक खनिज पदार्थ जैसे पोटेशियम, फास्फोरस ,कैल्शियम और मेग्नेशियम आदि होते है जो हमारे स्वास्थ के लिए लाभदायक होते है। खुबानी आमतौर पर पिले या नारंगी कलर का होता है। इसे सुखी खुबानी (dried apricots) के नाम से भी जाना जाता है।

खुबानी खाने के फायदे (Khubani (apricot) Benefits in Hindi)

खुबानी (Khubani benefits in hindi) फल हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद है। क्योकि इसमें अधिक मात्रा में विटामिन और खनिज पदार्थ उपस्थित रहते है| जो हमें स्वस्थ रखने में मदत करते है। आज हम आप को बताते है की खुबानी के फल को या उसके बीज को खाने से क्या-क्या फायदे होते है। निम्नलिखित कुछ ऐसी बीमारिया है। जिनके इलाज में खुबानी फल एक अहम् भूमिका निभाता है।

कब्ज में खुबानी खाने के फायदे (Apricot Good for Constipation in Hindi)

खुबानी फल में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है। इसमें लैक्सेटिव के गुण होते है, जो मनुष्य में होने वाले कब्ज को ठीक करने का काम करता है। यह आंतो के कार्यो को सुधारने में मदत करता है। इसमें उपस्थित फाइबर गैस्ट्रिक और पाचन तंत्र को उत्तेजित करने का काम करता है।

हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए खुबानी फल के फायदे (Khubani for Bone Health in Hindi)

खुबानी फल में उपस्थित कैल्शियम,पोटेशियम, मेग्नेशियम, लोहा और ताम्बा आदि खनिज पदार्थ होते है। जो हड्डियों को मजबूत रखने का कार्य करता है। इसलिए खुबानी या एप्रीकोट फल का उपयोग हड्डियों को मजबूत और हड्डियों के विकास में भी सहायक होता है। यह ओस्टियोपोरोसिस सहित विभिन्न आयु सबंधित स्थितियों को सुरक्षित रखने में मदत करता है।

हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खुबानी के फायदे (Apricot Benefits for Heart in Hindi)

खुबानी में उपस्थित विटामिन सी और पोटेंशियम होने के कारन यह दिल के दौरे और स्ट्रोक जैसी बीमारियों को सुधारने में मदत करता है। खुबानी एक शानदार फल है| जो आप को हृदय से सबंधित बीमारियों को रोकने में मदत करता है। विटामिन सी (Vitamin C) दिल के सूक्ष्म कणो को बचाता है, पोटेशियम रक्त वाहिकाओं और धमनियों के रक्त के तनाव को काम करने का काम करता है। जबकि फाइबर कोलेस्ट्रॉल को कम करने का काम करते है।

कान दर्द में खुबानी तेल के फायदे (Apricot oil For Ears in Hindi)

एक शोध में पाया गया है की खुबानी का तेल कान के दर्द के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। यदि आप खुबानी तेल की बूंदो को कान में टपकाते है, तो कान का दर्द सही हो जाता है। क्योकि इसमें एंटीओक्सिडेंट सामग्री भरपूर मात्रा में होती है। इस पर अभी और रिसर्च चल रही है।

बुखार में खुबानी के फायदे (Apricot Fruit Benefits Fever in Hindi)

खुबानी रस का यूज़ बुखार से पीड़ित मरीजों के लिए बहुत फायदे मंद होता है। इसमें उपस्थित विटामिन, प्रोटीन और खनिज पदार्थ शरीर में आने वाले कमजोरी या बुखार को ठीक करने का काम करते है। खुबानी का उपयोग बुखार के साथ- साथ शरीर में होने वाले सूजन को भी कम करने का काम करता है,और गठिया जैसे बीमारियों को भी ठीक करता है।

त्वचा के लिए खुबानी का उपयोग (Khubani Uses for Skin in Hindi)

खुबानी तेल का उपयोग त्वचा के लिए किया जाता है। इसके तेल को त्वचा के ऊपर लगाने से त्वचा  चिकनी और खूबसूरत दिखती है,और साथ ही साथ त्वचा पर होने वाली खुजली को रोकने में भी मदत करता है। इसमें उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट योगिक और खनिज पदार्थ होने के कारन यह त्वचा को मुलायम बनाने में मदत करता है।

आँखो के लिए सुखी खुबानी के उपयोग (Apricot Good for Eyes in Hindi)

सुखी खुबानी में एंटीऑक्सीडेंट और बीटा कैरोटीन का मुख्य घटक पाया जाता है जो आँखो की नसों को मजबूत करने में मदत करता है। जिसके कारन हमारी आखे स्वस्थ रहती है। यह मोतियाबिंदु के जोखिम को भी कम करता है।

कैंसर के इलाज में खुबानी बीज के फायदे (Apricot Seeds Cures Cancer in Hindi)

खुबानी के बीज में कैरोटिनॉइड और अन्य एंटीऑक्सीडेंट यौगिक खनिज होने के कारन यह कैंसर के उपचार के लिए बहुत लाभदायक होते है। मुक्त कण सेलुलर चयापचय के खतरनाक उप उत्पाद होते है। जो स्वास्थ कोशिकाओं को कैंसर की कोशिकाओं में बदलने का कार्य करते है। खुबानी बीज सीधे कैंसर के इलाज में उपयोग करते है।

वजन कम करने में सुखी खुबानी बीज के फायदे (Dry Apricot for Weight Loss in Hindi)

सुखी खुबानी में कैलोरी की मात्रा कम होती है और फाइबर की मात्रा अधिक होने के कारन यह चयापचय की क्रिया को ठीक करने का काम करता है। यह पाचन क्रिया को व्यवस्थित करने का काम करती है। इसलिए वजन को कम करने के लिए सुखी खुबानी का यूज़ किया जाता है। ध्यान रहे की सुखी खुबानी के बीज का सेवन अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए।

प्रेग्नेंसी में खुबानी बीज के फायदे (Dry Apricot Fruits Benefits for Pregnancy in Hindi)

प्राचीन समय से ही सूखे खुबानी का उपयोग प्रेग्नेंसी, बांझपन,रक्तस्त्राव और ऐंठन के इलाज के लिए किया जाता है। इसमें उपस्थित मल्टीपल विटामिन जैसे ए,बी, सी और इ और साथ ही साथ फास्फोरस, पोटेशियम कैल्शियम और आयरन जैसे खनिज पदार्थ होते है। जिसमे भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है जो गर्भवती महिलाओं और स्तनपान वाली महिलाओं के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। इसके अलावा सूखे खुबानी के पेस्ट को योनी संक्रमण के इलाज के लिए भी उपयोग कर सकते है।

खुबानी के साइड इफ़ेक्ट या नुकसान (Khubani Side Effect in Hindi)

खुबानी खाने से वैसे तो कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होते है फिर भी यदि आप इसको अधिक मात्रा में या बिना किसी के जानकारी से लेते है तो यह आप के लिए खतरनाक हो सकते है। खुबानी से होने वाले नुकसान निम्नलिखित है।

  • इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से एलर्जी भी हो सकती है।
  • खुबानी का सेवन निम्न रक्तचाप वाले मरीजों के लिए नकारात्मक प्रभाव डालता है।
  • मधुमेह के मरीजों के लिए सूखे खुबानी का सेवन वांछनीय रहता है।
  • खुबानी के बीजो में खतरनाक साइनाइड का रसायन पाया गया है। इसलिए खुबानी बीजो का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • यदि आप खुबानी बीजो का सेवन करना चाहते हो तो डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*