पथरी क्या होती है? पथरी का घरेलु उपाय | Kidney Stone Treatment in Hindi

kidney stone home treatment

पथरी यह वर्तमान समय में एक आम समस्या बन गई है, यह बच्चो और वयस्कों मनुष्यो में पाई जाती है। यह बीमारी यूरिन में कई रासायनिक तत्व एकत्रित होने के कारण होती है| यह रासायनिक तत्व यूरिक एसिड, फास्फोरस, कैल्शियम और आकलेजिक एसिड आदि तत्व के मिश्रण से स्टोन का निर्माण करते है। जिसके कारण पथरी (किडनी स्टोन) की बीमारी होती है। आज हम आप को इस पोस्ट के माध्यम से किडनी स्टोन का इलाज या पथरी के घरेलु उपचार के बारे में बताएंगे।

पथरी (किडनी स्टोन) का इलाज (Kidney Stone Treatment in Hindi)

पथरी का इलाज करने के लिए निम्नलिखित तरीको का उपयोग किया जाता है।

लिथोट्रिप्सी (Lithotripsy):– एक्स्ट्राकोर्पेरियल शॉक वेव लिथोट्रिप्सी बड़े पथरी (Kidney Stone in Hindi) को तोड़ने के लिए ध्वनि तरंगो का उपयोग किया जाता है। जिससे पथरी (Kidney Stone in Hindi) के कण मूत्र के द्वारा बहार निकलने लगते है। यह प्रक्रिया बहुत ही असहज होती है। इस प्रक्रिया में एनेस्थीसिया कई आवश्यकता भी हो सकती है। इसके कारण पेट के निचले हिस्से और पीठ पर नीला हो सकता है। गुर्दे और अंगो के चारो और खून का रिसाव भी हो सकता है।

परक्यूटेनियस नेफ्रोलिथोटॉमी (Percutaneous Nephrolithotomy):- इसमें पथरी को आप के पीठ के पीछे छोटा सा चीरा या कट लगाया जाता है। उसके बाद पथरी के टुकड़ो को आसानीसे निकाला जाता है, और यह तब आवश्यक होती है।

  • पथरी गुर्दे को नुकसान पहुँचाती है या बाधा और संक्रमण करती है।
  • पथरी के दर्द को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।
  • पथरी आकार में इतनी बड़ी हो गई हो की उसे पारित नहीं किया जा सकता है।

युरेटेरोस्कोपी (ureteroscopy):– जब पथरी आप के मूत्रमार्ग या मूत्राशय में फ़स जाती है, तो इसे निकालने के लिए डॉक्टर एक उपकरणक का प्रयोग करते है| जिसे यूरेट्रोस्कोप कहा जाता है। यह एक तार जैसा होता है जिसमे कैमरा लगा हुआ रहता है। इसे मूत्रमार्ग से मूत्राशय में डाला जाता है| जिसमे पथरी को निकालने के लिए एक पिंजरे का उपयोग किया जाता है। पिंजरे की सहायता से पथरी को बाहर निकाला जाता है और बाद में परिक्षण के लिए लेब में भेजा जाता है।  (और पढ़े: यूरिन इन्फेक्शन क्या है? लक्षण और बचाव)

किडनी स्टोन (पथरी) के इलाज के लिए दवाइया (Medicines for Kidney Stone in Hindi)

पथरी के दर्द के इलाज के लिए निम्नलिखित दवाइयों का उपयोग किया जाता है।

  • सोडियम बाय कार्बोनेट।
  • फास्फोरस का घोल।
  • ड्यूरेटिक दवाए
  • एलोप्यूरीनाल

इसके अलावा पथरी के इलाज के लिए मार्किट में और भी अधिक दवाइया मौजूद होती है। परन्तु इस बात का ध्यान रहे की किसी भी दवा का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले, यदि आप ऐसा नहीं करते है तो आप को नुकसान भी हो सकता है। किडनी स्टोन के उपचार के लिए निम्नलिखित दवाइयों का उपयोग किया जाता है।

  • Acitrol
  • Acrocitron
  • Alinol

उपरोक्त दी गई दवाइ जानकारी मात्र है| यदि आप को ऐसी कोई परेशानी हो तो डॉक्टर से संपर्क करे और उन से सलाह ले।

पथरी का घरेलु इलाज (Kidney Stone Home Remedy in Hindi)

पथरी की बीमारी होने के कारण हमेशा पेट में दर्द होते रहता है। शरीर में विटामिन डी की मात्रा बढ़ने, डिहाइड्रेशन,शरीर में लवणों से असंतुलन से अनियमित डाइट के कारण भी किडनी स्टोन होने का खतरा रहता है। इसके इलाज के लिए कुछ घरेलु उपचार का उपयोग किया जाता है।  जो निम्नलिखित है।

अनार

अनार पथरी के इलाज के लिए बहुत फायदेमंद होता है।क्योकि इसके ज्यूस और बीज में एस्ट्रिजेंट का गुण पाया जाता है। आप अनार को खाने के साथ सलाद के रूप में भी उपयोग में ला सकते है। यदि आप के किडनी में स्टोन है, तो आप को प्रतिदिन २-३ बार अनार का ज्यूस पीना चाहिए।

निम्बू का रस और ऑलिव आइल

निम्बू के रस और ऑलिव आइल को मिलाकर पिने से गॉलब्लेडर स्टोन को हटाने का काम किया जाता है, और यह किडनी के स्टोन को हटाने में भी फायदेमंद रहता है। निम्बू के रस में सिट्रिक एसिड उपस्थित रहता है जो कैल्शियम के टुकड़ो को तोड़ने के साथ-साथ उन्हें पुनः बनने से भी रोकता है। इस मिश्रण को बनाने के लिए निम्बू का रस और ऑलिव आइल की मात्रा को बराबर लेना चाहिए। इसे आप दिन में दो से तीन बार पी सकते हो।

राजमा

राजमा में अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है। जो किडनी और ब्लेडर से जुडी समस्याओं को ख़त्म करने का काम करता है। इसे किडनी बिन्स के नाम से भी जाना जाता है। राजमा को बनाने से पहले इसे जिस पानी में भिगोया जाता है| उस पानी को पिने से पथरी के इलाज में फायदा मिलता है।

तरबूज

तरबूज किडनी स्टोन के इलाज के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। यह खासतौर पर मेग्नेशियम, फास्फेट,कार्बोनेट और कैल्शियम से बनी स्टोन को हटाने में मदतगार होता है। तरबूज में आवश्यक मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है। जो स्वस्थ किडनी के लिए बहुत उपयोगी है। पोटेशियम यूरिन में एसिड की मात्रा को नियंत्रित करने का काम करता है।

व्हीट ग्रास

व्हीट ग्रास को उबालकर ठंडा करके नियमित रूप से पिने से किडनी और पथरी के इलाज के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा यह किडनी से संबधित सभी बीमारियों को ठीक करने का काम भी करता है। व्हीट ग्रास के पानी में थोड़ी मात्रा में निम्बू का रस मिलाकर पिने से यह बहुत ही मदतगार होता है।

Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*