Nise Tablet क्या है? | Nise Tablet in Hindi

Nise Tablet in Hindi

Nise टेबलेट (Nise tablet in Hindi) एक एंटी -स्टेरॉयड दवाई है। जिसका उपयोग तीव्र दर्द और तेज बुखार में किया जाता है। नाइस टैबलेट 100mg की क्षमता में भी उपलब्ध है। नाइस टेबलेट का यूज़ दर्द और बुखार में करने से यह बीमारी को १५-२० मिनिट तक ठीक कर देता है। परन्तु इस टेबलेट का अधिक सेवन करने से आपको साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते है। इस दवाई का मुख्य घटक निमुस्लाइड होता है। जिसके कारन बहुत सी बीमारियों को ठीक किया जाता है। जैसे:- पेट दर्द, तीव्र दर्द, गठिया, सूजन, संधिशोध, आदि बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। इस दवाई का उपयोग बुखार को कम करने और कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकने का काम भी किया जाता है। शरीर में प्रोस्टेग्लेडिन और साइक्लोक्सिजिनाइज  नामक यौगिक के संश्लेषित करात है जिसका कारन तीव्र दर्द, कमरदर्द और बुखार जैसे समस्याए  होती है। नाइस दवाई का यूज़ हम प्रतिदिन या सुबह शाम १-१ गोली को भी ले सकते है। परन्तु यह ध्यान रहे की इस गोली का यूज़ करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले, यदि आप बिना डॉक्टर की सलाह से इस दवाई का सेवन करते है तो आप को इसके साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते है। इसलिए गोली लेने से पहले सावधानी बरते और दवाई के स्ट्रिप पर दिए गए निर्देश अवश्य पढ़े।

 Nise Tablet के फायदे और उपयोग (Benefits and Uses of Nise Tablet in Hindi)

नाइस टेबलेट निमेसुलाइड, एंटी -स्टेरॉइडल और एंटी इंफ्लामेटरी नामक दवाई का मिश्रण है। इसका उपयोग निम्नलिखित बीमारियों के इलाज में किया जाता है।

  • पीठ दर्द में।
  • तेज बुखार में।
  • सिरदर्द के निवारण में।
  • दातो के दर्द में।
  • माइग्रेन में।
  • माशपेशियों के दर्द में।
  • ऑपरेशन के बाद होने वाले दर्द में।
  • संधिशोध के इलाज में।
  • थ्रोम्बोफ्लेबाइटस में।
  • गठिया के इलाज में।
  • जोड़ो के कारन होने वाले दर्द में।
  • शल्य क्रिया के बाद होने वाले दर्द के निराकरण के लिए।
  • कमजोरी आने पर।
  • गर्दन के दर्द में।
  • रूमेटाइड अर्थराइड्स में।
  • गाउट में।

Nise Tablet कैसे काम करती है। (How does work Nise tablet in Hindi)

शरीर में उपस्थित प्रोस्टाग्लैंडीन नामक संश्लेषण जो कमर दर्द, वायरल बुखार, हाथ पेरो में सूजन आदि लक्षणों से जुड़ा होता है। परन्तु नाइस टेबलेट इन प्रोस्टाग्लैंडीन के संश्लेषण को धीरे धीरे ख़त्म कर देती है। जिसके कारन इन बीमारियों से ग्रसित मरीजों को राहत मिलती है। नाइस टेबलेट को आप डॉक्टर की सलाह के निर्देशनुसार ही यूज़ करे। इस टेबलेट को आप दिन में दो बार भी सुबह शाम ले सकते है परन्तु इस बात का भी ध्यान रहे की इस टेबलेट का यूज़ अधिक मात्रा में न करे। यदि अधिक मात्रा में इस टेबलेट को लेते हो तो इसके साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते है। यह टेबलेट मस्तिष्क में होने वाले तीव्र दर्द को रोकने का काम करता है।

Nise Tablet के साइड इफ़ेक्ट / दुष्प्रभाव (Nise Tablet side Effect in Hindi)

नाइस टेबलेट का उपयोग तो आमतौर पर बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है। परंति आप यदि इस टेबलेट का यूज़ अधिक मात्रा में करते है तो आप को साइड इफ़ेक्ट हो सकता है और यह साइड इफ़ेक्ट आप को महसूस भी नहीं होंगे। आज हम आप को इससे होने वाले साइड इफ़ेक्ट के बारे में बताएँगे जो निचे दिए गए है।

  • पाचनतंत्र से संबधित
  • पेट दर्द में।
  • उलटी
  • सीने में दर्द
  • दस्त लगाना
  • शरीर कमजोर होना।
  • कब्ज जैसी परेशानी।
  • भूख न लगना।
  • सिरदर्द करना।
  • पेट फूलना।
  • चेहरे पर मुहासे होना।
  • त्वचा पर लाल चकते पड़ना।

भारत में Nise Tablet की कीमत (Nise Tablet Price in india)

भारत में नाइस टेबलेट आप को किसी भी मेडिकल स्टोर पर आसानी से मिल जाएगी। नाइस टेबलेट का की कीमत भारत में 74 Rs है। यह १० गोलियों का पैकेट आता है। परन्तु इस बात का ध्यान रहे की इस दवाई को लेने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।

नाइस टेबलेट के इस्तेमाल करने में सावधानियाँ (Nise Tablet precaution in Hindi)

नाइस टेबलेट का इस्तेमाल (Nise tablet use in Hindi) करने से पहले उसकी सावधानियों के बारे में अवश्य जानले। हम आप को कुछ इसकी सावधानियो से अवगत करते है जोकि निम्नलिखित है।

  • यदि आप को किसी भी प्रकार की एलर्जी है। तो इस दवाई का यूज़ करने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य ले।
  • यदि कोई महिला अपने बच्चो को स्तनपान करवा रही है तो उस समय भी इस दवाई का उपयोग डॉक्टर की सलाह पर है।
  • यदि प्रेग्नेंसी में नाइस टेबलेट का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  • यदि पहले से ही आप कोई विटामिन या अन्य दवाई का सेवन कर रहे है तो इस दवाई का सेवन करने से पहले डॉक्टर से जानकारी अवश्य ले।
  • आप किसे नशीली पदार्थ जैसे: शराब, गुटखा या किसी प्रकार का ड्रग्स ले रहे हो तो  उस समय इस दवाई का सेवन न करे।
  • यदि महिलाये इस दवाई का अधिक मात्रा में यूज़ करते है तो इससे महिलाओं में बांज पन पैदा हो सकता है।
Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*