गर्भावस्था में पेल्विक (श्रोणी का दर्द) होने के कारण, लक्षण और इलाज | Pelvic Pain (pelvic) in Pregnancy, Symptoms, Causes and Treatment in Hindi

Pelvic Pain in Pregnancy in hindi

गर्भावस्था में पेल्विक (Pelvic Pain in Pregnancy in hindi) या श्रोणी में दर्द होना आम बात है, अगर आपको भी श्रोणी में दर्द होता है, तो घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इस दर्द को महसूस करने वाली आप अकेली महिला नहीं है| गर्भावस्था के दौरान लगभग 70-80% महिलाएं पेल्विक दर्द से गुजरती है| यह दर्द ज्यादातर गर्भावस्था के अंतिम तीन महीनों में होता है|

ऐसा दर्द होना आम बात है, यह दर्द तब भी होता है जब बच्चा प्रसव से दो-चार सप्ताह पहले जन्म के लिए तैयार होकर श्रोनो क्षेत्र में होता है| लेकिन ऐसा कोई जरुरी नहीं है की इस समय ही दर्द हो हो, पेल्विक क्षेत्र मे गर्भावस्था के दौरान कभी भी दर्द हो सकता है| इस समय पीठ के पिछले हिस्से और पेट के निचले हिस्से में संवेदनशीलता बढ़ जाती है| आईये जानते है पेल्विक क्षेत्र में दर्द होने के कारण, लक्षण और इलाज क्या है?

गर्भावस्था में पेल्विक (श्रोणी में दर्द) होने के लक्षण (Symptoms of pelvic pain in Hindi)

  • पेट के निचले हिस्से में एंठन
  • पेल्विक क्षेत्र में हल्का-हल्का दर्द होना
  • नाभि के ठीक निचे की हड्डी में दर्द होना|
  • पीठ के पिछले हिस्से में दर्द होना|
  • योनी और गुदा के बीच दर्द होना|
  • पेशाब करते समय दर्द होना|
  • शारीरिक संबध बनाते समय दर्द होना|
  • संबध बनाने के दौरान योनी से खून आना|    (अधिक जानकारी:-योनी कैंसर(Vaginal Cancer) क्या है?इसके लक्षण, कारण और इलाज)
  • पेट और जांघ के बीच के भाग में दर्द होना|
  • टांगो के निचले हिस्से में पीछे की तरफ दर्द होना|
  • कुल्हे के चरों तरफ दर्द होना|
  • चलने-फिरने पर चटकने की आवाज आना|
  • टांगो को फैलाने, चलने-फिरने, सीढियां चढने आदि में दर्द होना|
  • बिस्तर पर हिलते-डुलते दर्द होना|

गर्भावस्था में पेल्विक (श्रोणी में दर्द) होने के कारण (Pelvic Pain Causes in Pregnancy in Hindi)

  • पहले कभी पीठ के निचले हिस्से में दर्द रहा हो|
  • पहले किसी दुर्घटना में पेल्विक यानी श्रोणी क्षेत्र में चोट लगी हो|
  • ऐसी नौकरी जिसमे ज्यादा शारीरिक मेहनत करनी पड़े|
  • पेल्विक क्षेत्र को आधार देने वाली मांसपेशियों में बदलाव आने पर|
  • श्रोणी क्षेत्र की हड्डियों में गैप होने पर|

गर्भावस्था में पेल्विक (श्रोणी में दर्द) का इलाज (Pelvic Pain Treatment in Pregnancy in Hindi)

  • हाथ से की जाने वाली मैन्युअल थैरेपी का सहारा ले, इससे जोड़, कुल्हे और रीढ़ की हड्डी को आराम मिलता है|
  • व्यायाम करें, इससे पेल्विक क्षेत्र में दर्द से आराम मिलता है और पीठ, जांघ, कुल्हे और रीढ़ की मांसपेशियां मजबूत होती है|
  • जो कसरत पानी में होती है उन्हें करें|
  • ज्यादा से ज्यादा पानी पीयें|
  • डॉक्टर से सलाह ले की इस समय शारीरिक संबध बनाते समय किस पोजीशन का इस्तेमाल करें|
  • दर्द से आराम के लिए टेन्स प्रोसेस को अपनाएं. इसमें हल्के इलेक्ट्रिक करंट से दर्द को दूर किया जाता है|
  • पेल्विक सपोर्ट बेल्ट पहने या किसी बैसाखी का सहारा ले ताकि पेल्विक क्षेत्र में ज्यादा दबाव ना पड़े, काम करने वाली और व्यायाम करने वाली महिला को पेल्विक बेल्ट जरुर पहनना चाहिए|
  • एक्युप्रेशर की मदद ले, इससे भी दर्द में आराम मिलता है, लेकिन ध्यान रहें इसके लिए किसी जानकार के पास ही जाए|
  • डॉक्टर से बात करे की क्या-क्या काम करना है और किस अवस्था में रहना है ताकि पेल्विक क्षेत्र में ज्यादा दबाव ना पड़े और बच्चे का जन्म अधिक आसान हो सके|

गर्भावस्था में पेल्विक (श्रोणी में दर्द) होने पर क्या करें और क्या ना करें

  • ऐसी किसी भी एक्टिविटी से बचे जिससे दर्द बढ़ सके और पेल्विक क्षेत्र पर ज्यादा दबाव पड़े|
  • जमीन पर पालथी मारकर ना बैठे|
  • ज्यादा देर तक खड़े या बैठे ना रहे|
  • थोडा ही सही लेकिन बार-बार चले|
  • चलते समय अपनी पीठ को थोडा झुकाएं और अपनी बाजुओं को हवा में हिलाएं|
  • पीठ के बल ना लेतें और कंधे झुकाकर ना बैठें|
  • जिस बेड पर आप सो रही है उसके निचे नरम रजाई जरुर लगा दे|
  • करवट लेकर सोने की कोशिश करें और घुटनों के बीच तकिये को लगाकर सोयें, इससे आपको ज्यादा आराम मिलेगा|
  • कोई भी भारी चीज ना उठायें, खींचे या खिसकाएँ|
  • कपड़े बैठकर पहने ज्यादा सही रहेगा|
  • पेल्विक और मांसपेशियों के व्यायाम नियमित तौर पर किसी अच्छे ट्रेनर की देखभाल में करें|
  • किसी भी तरह की मालिश करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरुर ले|
  • फर्श पर ना बैठें|
  • घर के कामकाज अकेले ना करें, किसी की मदद ले|
  • कार या बिस्तर में घुसते समय अपनी टांगो को ना फैलाएं|
Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*