गर्भावस्था में सिर दर्द होने के कारण और इलाज | Headache and Cure in Pregnancy Causes and Treatment in Hindi

Headache and Cure in Pregnancy Causes and Treatment in Hindi

सिर दर्द (Headache in Pregnancy in Hindi) कभी भी किसी को भी आ सकता है, थकावट, तनाव, काम का प्रेशर आदि की वजह से सिर दर्द होता है, लेकिन गर्भवती महिला के लिए सिर दर्द एक बुरे सपने की तरह होता है| सिर दर्द सामान्य दिनों में भी काफी परेशान करता है, और ऐसे में गर्भावस्था के समय तो यह और ज्यादा तकलीफ देता है|

गर्भावस्था के पहले तीन महीने में सिर दर्द होना आम बात है, कभी तेज और कभी हल्का-हल्का दर्द होता है| लेकिन कई बार तो यह दर्द असहनीय हो जाता है| आमतौर पर आप सिर दर्द दूर करने के लिए दवाई ले सकती है, लेकिन गर्भावस्था के समय आपको ज्यादा दवाई लेने की मनाई होती है| आईये जानते है गर्भावस्था के दौरान सिर दर्द (pregnancy me sar dard) होने के कारण क्या है और इससे कैसे बचा जा सकता है|

क्या गर्भावस्था के समय सिर दर्द होना आम बात है?

गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल अंसतुलन की वजह से सिर दर्द होता है जो की आम बात है, यह दर्द गर्भावस्था के पहले तीन महीने में कम या ज्यादा होता रहता है, उसके बाद धीरे-धीरे हार्मोन के संतुलन में आने से दर्द कम होता रहता है|

गर्भावस्था के सिर दर्द होने के कारण (Due To The Headaches of Pregnancy in Hindi)

  • ब्लड प्रेशर कम या ज्यादा होने की वजह से|
  • गर्भावस्था से पहले सिर दर्द की शिकायत रहती हो|
  • थकान की वजह से|
  • भूख न लगने की वजह से|
  • व्यायाम ना करने से|
  • तनाव या चिंता करने से|
  • पानी की कमी से|
  • अधिक कैफीन का सेवन करने से, लेकिन अचानक से कैफीन का सेवन पूरी तरह से बंद ना करें अन्यथा सिर दर्द की शिकायत रह सकती है|
  • नाक बंद होने से
  • आँखों के आसपास प्रेशर पड़ने से|
  • सर्दी-जुकाम की वजह से|
  • धुप में ज्यादा देर तक रहने से|

गर्भावस्था में सिर दर्द का इलाज (Treatment of Headache in Pregnancy in Hindi)

  • एक्युप्रेशर

इसमें शरीर के उन बिन्दुओं को उत्तेजित किया जाता है जिससे सिर दर्द कम होता है. एक्युप्रेशर तनाव और चिंता को दूर करने के लिए भी अच्छा माध्यम है.

  • अरोमाथैरेपी

इस थैरेपी में जितनी बार भी आपको सिर दर्द महसूस हो उस समय टिश्यु पेपर या रुमाल पर पेपरमेंट तेल या लैवेंडर तेल की कुछ बुँदे डाले और सूंघे, इसे चाहे तो आप अपने माथे पर भी रगड सकते है|

  • भाप लेना

गर्म पानी से भाप लेने से बंद नाक खुल जाती है और साइनस कक्षेत्र में आराम मिलता है जिससे सिर दर्द दूर होता है|

  • मसाज का सहारा ले

कंधे, पीठ, गर्दन पर अच्छी तरह से मसाज करवाएं, लेकिन ध्यान रहें मसाज किसी जानकार से ही कराएँ, जिसके पास गर्भवती महिलाओं को मालिश करने का अच्छा अनुभव हो|

  • नहायें

ठंडे पानी से नहाने से सिर दर्द में बहुत आराम मिलता है, चेहरे पर ठंडे पानी की बुँदे गिरने से तनाव में भी राहत मिलती है, जिससे अगर तनाव की वजह से सिर दर्द है तो आराम मिल जायेगा| आप गर्म पानी में सेंधा नमक डालकर भी नहा सकती है, इससे भी सिर दर्द में रिलीफ मिलेगा|

  • सही ब्रा का चयन करें

आप सोच रहे है की सिर दर्द का ब्रा से क्या लेना देना, गर्भावस्था के दौरान स्तन भी बढ़ने लगते है जिससे आपकी पीठ और गर्दन पर दबाव पड़ता है. ऐसे में सही ब्रा से आप इस दबाव से बच सकती है जिससे सिर दर्द नहीं होगा|

गर्भावस्था के दौरान सिर दर्द दूर करने के घरेलू उपाय (Home Remedies For Removing Headaches During Pregnancy in Hindi)

 

  • एक कप दूध में तीन चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाये और इसे उबाले. दूध जब ठंडा हो जाए तो इसमें स्वाद के अनुसार शहद मिलाएं, जब बुरी तरह से सिर दर्द हो तो इसे दिन में दो बार पीयें|
  • एक गिलास पानी में दो चम्मच सेब का सिरका और दो चम्मच शहद ले, उसे मिलाएं और पी जाएँ|
  • अदरक की चाट सिर दर्द से तुरंत राहत दिलाती है क्योंकि अदरक में एंटी-ओक्सिडेंट गुण होते है|
  • लैवेंडर आयल से सिर की मालिश करें, इससे तनाव भी कम होता है और नींद भी अच्छी आती है|

 

गर्भावस्था में सिर दर्द से बचाव कैसे करे (How To Prevent Headache During Pregnancy in Hindi)

 

  • ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल में रखें|
  • नियमित व्यायाम करें|
  • ज्यादा से ज्यादा पानी पीयें|
  • पर्याप्त आराम करें|
  • किसी भी तरह का तनाव ना ले|
  • अच्छी नींद ले|
  • आँखों को आराम दे, ज्यादा मोबाइल न चलायें|
  • संतुलित और पौष्टिक आहार ले|
  • कैफीन का सेवन कम से कम करें|
  • खुली हवा में सैर करें|
  • गर्म स्थानों पर ना जाए और तेज गंध से दूर रहें|
  • टाइट कपड़े ना पहने|
  • रौशनी और शोर वाले वातावरण से दूर रहें|
  • कोई भी काम करते समय लम्बे समय तक झुके नहीं|
  • सही मुद्रा में बैठे ताकि सिर पर दबाव ना पड़े|
  • मेडिटेशन का सहारा ले|
  • कोई भी दवाई मन से ना ले, डॉक्टर से सम्पर्क करें अन्यथा साइड इफ़ेक्ट हो सकते है|
  • ज्यादा प्रकाश वाले कमरे में ना बैठे|

 

गर्भावस्था में सिर दर्द होने पर डॉक्टर के पास कब जाएँ

  • नींद से जागते ही भयंकर सिर दर्द होने लगे|
  • ऐसा सिर दर्द हो जो पहली बार हो रहा हो और असहनीय हो|
  • बुखार के साथ गर्दन में अकडन हो|
  • कम और धुंधला दिखने लगे|
  • गिरने की वजह से सिर पर चोट आई हो|
  • कंप्यूटर स्क्रीन पर ज्यादा देर तक बैठने से सिर दर्द हो रहा हो|
  • अचानक वजन बढ़ने पर|
  • उलटी या जी मचलने पर|
  • चेहरे और हाथ पर सुजन होने पर|
Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*