साफी सिरप की जानकारी इसके फायदे, उपयोग और नुकसान | Safi Syrup in Hindi

Safi syrup in Hindi

साफी सिरप (safi syrup in hindi) एक आयुर्वेदिक औषधि होती है। जिसका उपयोग चेहरे से सबंधित बीमारिया जैसे:- एलर्जी, मुंहासे, खुजली, झुर्रिया और रक्त को साफ करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह एक यूनानी फार्मूला है, इसका लगातार सेवन करने से पेट भी साफ रहता है। आइए इस दवाई के बारे में विस्तार से जानते है, की इसका इस्तेमाल कैसे करते है, और इसके इस्तेमाल करने से क्या- क्या फायदे और नुकसान होते है।

साफी सिरप के फायदे और उपयोग (Safi Syrup Benefits and Uses in Hindi)

आमतौर पर साफी सिरप का उपयोग चेहरे से सबंधित बीमारियों के लिए किया जाता है। निम्नलिखित कुछ ऐसे लक्षण होते है, जिनमे साफी सीरप का उपयोग किया जाता है।

उपरोक्त दिए हुए लक्षणों के अलावा साफी का उपयोग अन्य बीमारियों में भी किया जाता है।

साफी सिरप में इस्तेमाल होने वाली सामग्री (Ingredients of Safi Syrup in Hindi)

साफी सिरप में निम्नलिखित सामग्री का उपयोग किया जाता है।

  • चन्दन
  • गिलोय
  • ब्राम्ही
  • नीम
  • घी
  • तुलसी
  • कासनी
  • बबूल
  • चोपचीनी
  • सनाय
  • अगारु
  • शोरा देसी।
  • स्वेर्टिया चिराता
  • गोराकमुंडी

ऊपर दी गई सामग्री के अलावा इसमें अन्य सामग्री का भी उपयोग किया जाता है। इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर या किसी आयुर्वेदिक जानकर व्यक्ति से संपर्क करना चाहिए।

साफी सिरप के दुष्प्रभाव/ नुकसान (Safi Syrup Side Effect in Hindi)

साफी सिरप का उपयोग करने से आप को इसके साइड इफ़ेक्ट भी हो सकते है। लेकिन यह साइड इफ़ेक्ट आप को महसूस नहीं होंगे। यदि आप को इसके इस्तेमाल करने से कोई साइड इफ़ेक्ट होते है, तो आप को तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और उनसे सलाह लेना चाहिए। इस सिरप का सेवन करने से निम्नलिखित बीमारिया हो सकती है।

  • एलर्जी
  • स्किन पर जलन होना।
  • उलटी
  • मतली
  • दस्त।
  • त्वचा पर इन्फेक्शन होना।

ऊपर प्रदर्शित किए गए लक्षणों के अलावा यदि अन्य लक्षणों का आभास हो तो नजदीकी डॉक्टर या मेडिकल स्टोर से संपर्क कर उनसे जानकारी प्राप्त करे।

साफी सिरप कैसे काम करती है (How Safi Syrup Work in Hindi)

साफी सिरप एक आयुर्वेदिक औषधि होती है। जिसका उपयोग पेट को साफ़ करने के लिए किया जाता है। यह खून को साफ करने के अलावा शरीर में होने वाली अन्य बीमारियों को भी सुधारता है। इसका सेवन करने से स्वास्थ तंदुरस्त और चेहरा भी निखरता है। इसका सेवन आप दिन में दो बार (सुबह -शाम) एक -एक चम्मच कर सकते हो। यदि आप सुबह खाली पेट इसका सेवन करते है, तो यह बहुत ही लाभदायक होता है।

साफी सिरप की पारस्परिक क्रिया (Drug Interactions of Safi Syrup in Hindi)

यदि आप इस दवाई के साथ किसी अन्य दवाई का सेवन करते है, तो इसका असर आप के शरीर पर पड़ता है, या इसका प्रभाव कम हो जाता है। यदि ऐसी स्थिति बनती है, तो आप को तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और उन से सलाह लेना चाहिए। निम्नलिखित कुछ ऐसी दवाइया है, जिनके साथ इसका सेवन करने से पारस्परिक क्रियाए होती है।

  • Alcohol
  • Aspirin
  • Cyclosporine
  • Clopidogrel
  • Basiliximab
  • Azathioprine

साफी सिरप के इस्तेमाल में सावधानियां (Safi Syrup Precautions in Hindi)

इस दवाई का सेवन करने से पहले डॉक्टर को अपनी वर्तमान स्थिति या दवाइयों के बारे में बता देना चाहिए। यदि आप किसी विटामिन या अन्य दवाई का सेवन कर रहे हो तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लेना चाहिए। इस दवाई के बॉक्स के ऊपर कुछ दिशा -निर्देश या सावधानियां लिखी हुई रहती है, उनको अवश्य पढ़े और उनके अनुसार ही इसका सेवन करे।

  • यदि आप को बुखार है, तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
  • यदि आप मधुमेह की बीमारी से ग्रसित है, तो इस दवाई का सेवन करने से बचे, अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करे।
  • यदि आप को गुर्दे या लिवर की समस्या है, तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से संपर्क करे।
  • बच्चो को इस दवाई का सेवन नहीं करवाना चाहिए।
  • यदि आप को इसमें मौजूद सामग्री से एलर्जी है, तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से जानकारी अवश्य ले।
  • स्तनपान के समय इस सिरप का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य ले।
  • गर्भवस्था के दौरान इस सीरप का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले।
Please follow and like us:
0

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*